scriptCold weather will start in these places | टूट गया 15 सालों का रेकॉर्ड, इन जगहों पर शुरु होगा कड़ाके की ठंड का दौर | Patrika News

टूट गया 15 सालों का रेकॉर्ड, इन जगहों पर शुरु होगा कड़ाके की ठंड का दौर

हिमालय की हवाओं का असर, पचमढ़ी में 10 डिग्री पर आया तापमान....

भोपाल

Published: October 29, 2021 01:25:40 pm

भोपाल। हिमालयी इलाकों की सर्द हवाओं के असर से भोपाल समेत प्रदेश के कई शहरों में गुरुवार को न्यूनतम तापमान तीन से पांच डिग्री तक कम हो गया। भोपाल में अक्टूबर में पिछले 15 साल का रेकॉर्ड टूट गया। यहां न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री कम होकर 13.4 डिग्री पर आ गया। हिल स्टेशन पचमढ़ी में तापमान 10 डिग्री पर पहुंच गया। मैदानी इलाकों में सबसे कम तापमान 11 डिग्री रायसेन में दर्ज किया गया। प्रदेश के 13 शहरों में तापमान 15 डिग्री से कम रहा। मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है। कि अगले दो-तीन दिनों तक तापमान इसी के आसपास बना रहेगा। इसके बाद सर्दी के तेवर और तीखे होंगे।

wea.png
Cold weather

बादलों ने रोक रखी थी ठंड

मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि हिमालय के कई इलाकों में बर्फबारी हुई थी। इसके बाद सर्द हवाएं मैदानों का रुख करती हैं, लेकिन तीन-चार दिनों से प्रदेश के अधिकांश इलाकों में बादल छाए हुए थे।


इस तरह कम हुआ तापमान

ग्वालियर-14.6
खजुराहो-14.6
जबलपुर-13.9
भोपाल-13.4
नौगांव-13.0
मंडला-12.0
रायसेन- 10.8
(न्यूनतम तापमान डिग्री सेल्सि)


आने वाले दिनों में बढ़ेगी ठंड

वहीं पूरे मध्यप्रदेश का रात का पारा लुढ़क गया है। तापमान सामान्य से 7 डिग्री नीचे गिर गया। पचमढ़ी और रायसेन में तो तापमान 10 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि मंडला में 12 डिग्री तक लुढ़क गया। पचमढ़ी, रायसेन और मंडला के बाद भोपाल की रात सबसे ज्यादा सर्द रही।

यहां रात का पारा पहली बार 13 डिग्री सेल्सियस तक आ गया। इस सीजन में इससे पहले न्यूनतम तापमान 16 डिग्री तक आया था। इसकी वजह समुद्र तल से करीब 10 से 15 किमी की ऊंचाई पर 60 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा का चलना है। हिमालय और पूर्व से ठंडी हवाएं आने लगीं। मौसम विभाग के मुताबिक अभी एक सप्ताह तक इसी तरह तापमान कम-ज्यादा होते रहेगा। एक पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है। वह तीन दिन तक रहेगा। इसके जाते ही तापमान में फिर गिरावट आएगी। आने वाले दिनों में अच्छी ठंडी का अहसास होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.