एडमिशन के लिए पूरी फीस मांग रहे कॉलेज, उच्च शिक्षा विभाग का आदेश था 1 हजार जमा करने पर मिलेगा प्रवेश

उच्च शिक्षा विभाग ने निर्देश दिए हैं कि सिर्फ हजार रुपए में प्रवेश दिया जाएगा।

By: Pawan Tiwari

Published: 05 Oct 2020, 12:54 PM IST

भोपाल. उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशों का पालन कॉलेज और विश्वविद्यालयों में नहीं हो रहा है। कोरोना काल में भी फीस वसूली का सिलसिला जारी है। छात्रों से सत्र की पूरी फीस मांगी जा रही है जबकि उच्च शिक्षा विभाग ने निर्देश दिए हैं कि सिर्फ हजार रुपए में प्रवेश दिया जाएगा। अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय सहित कई निजी कॉलेज व विश्वविद्यालय यूजी और पीजी के छात्रों से फीस जमा कराने के लिए दबाव बना रहे हैं।

उच्च शिक्षा विभाग में पहुंची शिकायत
छात्रों ने आर्थिक तंगी का हवाला देते हुए हजार रुपए जमा कर प्रवेश लेना चाहा तो कॉलेज प्रबंधन ने पूरी फीस जमा करने के बाद ही एडमिशन देने को कहा। मामले की जानकारी उच्च शिक्षा विभाग तक पहुंच गई है छात्रों ने हेल्पलाइन सेंटर में अपनी शिकायत दर्ज कराई है।

छात्रों का का कहना है कि आर्थिक तंगी की वजह से वह फीस जमा नहीं कर पा रहे हैं और अभी रिजल्ट भी नहीं आया है। जिससे विद्यार्थी फीस नहीं जमा कर रहे हैं, हालांकि उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि हजार रुपये में एडमिशन देने का आदेश आवश्यक रूप से लागू किया गया था मगर कुछ कॉलेज इसका पालन नहीं कर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर कार्यवाही के संबंध में आयुक्त को रिपोर्ट भेजी गई है।

आज से ऑनलाइन पढ़ाई
वहीं, दूसरी तरफ राजधानी सहित प्रदेश के सरकारी एवं निजी कॉलेजों में यूजी और पीजी की क्लासेस ऑनलाइन सोमवार को फिर से शुरू होगी। 1 अक्टूबर को पहले दिन उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशों का कॉलेजों ने पालन नहीं किया जिसकी वजह से छात्र क्लास अटेंड नहीं कर पाए। 2 दिन लगातार छुट्टी होने के बाद अब प्रोफेसर ने छात्रों को गूगल नेट के माध्यम से जोड़ लिया है। सोमवार को अच्छे तरीके से लड़ाई होने की संभावना है।

coronavirus
Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned