एमपी की सियासत में 'चीन की एंट्री', भाजपा पर कांग्रेस का बड़ा आरोप

भारत-चीन सीमा (india-china border) पर बढ़े तनाव के बीच बीजेपी-कांग्रेस (bjp-congress) के बीच एक अलग ही सियासत (politics) शुरु हो गई है, बीजेपी कांग्रेस पर चीन (china) का साथ देने का आरोप लगा रही है तो वहीं अब कांग्रेस (congress) ने भाजपा (bjp) पर बड़ा आरोप लगाया है।

By: Shailendra Sharma

Published: 28 Jun 2020, 08:59 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (by election) से ठीक पहले सियासत ने एक अलग ही रंग पकड़ लिया है। एमपी की सियासत (mp politics) में चीन (china) की एंट्री हो चुकी है और उपचुनाव (upchunav) में स्थानीय मुद्दों की जगह बीजेपी और कांग्रेस (bjp-congress) एक दूसरे पर चीन को लेकर आरोप प्रत्यारोप करने में जुट गए हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूर्व मंत्री और प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी (JEETU PATWARI), कांग्रेस के मीडिया कार्डिनेटर अभय दुबे और मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने एक एक कर भाजपा पर कई आरोप लगाए। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा ने चीनी कम्युनिस्टों का साथ निभाया है और भारत को आघात पहुंचाया है।

मोदी सरकार पर बरसी कांग्रेस
प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस की ओर से एक के बाद एक केन्द्र की मोदी सरकार पर हमले बोले गए। कांग्रेस का आरोप है कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने देश को 6 सालों में 60 साल पीछे धकेल दिया है। सीमा की सुरक्षा, अर्थव्यवस्था, रोजगार, सामाजिक तानाबाना, संवैधानिक संस्थाएं, खेती किसानी सब कुछ खतरे में है । चीन भारत की सीमाओं में अन्दर तक घुस आया है और मोदी सरकार भारत की अस्मिता, अखण्डता और सम्प्रभुता से समझौता करके चीन के पक्ष में खड़ी हो गई है । चीन का पक्ष भाजपा इस हद तक ले रही है कि चीन के विश्वासघात पर पर्दा डालने के लिए झूठे तथ्यों का सहारा लेकर कांग्रेस और कमलनाथ (KAMALNATH) की छवि पर आघात किया जा रहा है ।

 

india-china_border.jpeg

कांग्रेस का आरोप- भारत की सीमा में घुसा चीन
कांग्रेस की तरफ से आरोप लगाया गया है कि चीन ने भारत की सीमा में गलवान घाटी के 80 किलोमीटर साउथ वेस्ट में गोगरा पोस्ट पेट्रोलिंग पॉइंट 14, 15, 17-ए और चुषुल में लाइन ऑफ एक्चुअल कन्ट्रोल के भारत के हिस्से में कब्जा कर परमानेन्ट मिलेट्री इन्फ्रास्ट्रक्चर बना लिया है । इतना ही नहीं चीन ने पैगोंग त्सो लेक के ऊपर फिंगर एरिया में फिंगर 4 से 8 तक कब्जा कर रखा है और वहां पर भारतीय सैनिकों को पेट्रोलिंग तक नहीं करने दे रहा है। दो दिन पहले चीन ने दौलत बेग ओल्डी की तरफ भारत की सीमा में 18 किलोमीटर अन्दर वाय जंक्षन पर, जहां से दो रास्ते कटते हैं, पेट्रोलिंग प्वाइंट 10 और 13 तक चीन पहुँच गया है । इस स्थान के ऊपर विश्व की सबसे ऊंची भारत की हवाई पट्टी है जिस पर चीन की निगाह है। कांग्रेस का आरोप है कि इन सब बातों को नकारते हुए पीएम मोदी चीन के पक्ष में जा खड़े हुए हैं और बयान दे रहे हैं कि भारत की सीमा में न कोई घुसा है और न ही वहां कोई मौजूद है। खुद प्रधानमंत्री कार्यालय ने अपने बयान में पीएम के बयान को खारिज किया है। विदेश मंत्री ने 17 जून को चीन के विदेश मंत्री से फोन पर बात की और उन्हें बताया कि चीन एलएसी के भारत के हिस्से में निर्माण कर रहा है । इतना ही नहीं, 16 जून को भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि चीन एकतरफा कार्यवाही करते हुए, यथास्थिति को बिगाड़ते हुए एलएसी में भारत के हिस्से की तरफ आ गया है । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी एक इंटरव्यू में इस तथ्य को स्वीकारा । लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत के 20 जवानों की शहादत और 80 जवान जो सीमा की रक्षा करते हुए घायल हुए हैं उनका अपमान किया है और चीन के पक्ष में बयान दिया है ।

 

shivraj_2_1.jpg

सीएम शिवराज की चीन यात्रा पर भी उठाए सवाल
कांग्रेस ने सीएम शिवराज सिंह चौहान की जून 2016 में हुई चीन की यात्रा पर भी सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी शिवराज सिंह चौहान से जानना चाहती है कि जून 2016 में 19 जून से 23 जून तक की उनकी चीन की यात्रा का खर्च चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने क्यों उठाया था ? क्या शिवराज सिंह चैहान बताएंगे कि कम्युनिस्ट पार्टी के किन नेताओं से उनकी गुप्त चर्चा हुई थी और उनके कहने पर मध्यप्रदेश में चीन की किन कंपनियों को लाभ पहुंचाया गया । चीन की यात्रा से आने के बाद शिवराजसिंह चैहान ने यह ट्वीट किया था कि ‘‘चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और भारतीय जनता पार्टी में जबरदस्त समानता है।"

मोदी राज में बढ़ा चीन का बाजार- कांग्रेस
कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार जब सत्ता में आई थी जब चीन से भारत का ट्रेड डिफिसिट लगभग 30 बिलियन डॉलर था, 5 साल में मोदी सरकार ने उसे बढ़ा कर (2017-18) 60 बिलियन डॉलर तक पहुंचा दिया। 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद भारत के बाजार चीन के लिए पूरी तरह खोल दिए और भारत के मेन्युफेक्चरिंग सेक्टर को तबाह कर दिया ।

 

bd_sharma.jpg

बीजेपी ने लगाया कमलनाथ पर आरोप
इससे पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए कहा था कि जब वो केन्द्र में मंत्री थे, तब उन्होंने राजीव गांधी फाउंडेशन को चीनी मदद दिलाई। इसके लिए उन्होंने अपने अधिकारों का दुरुप्योग किया। उन्होंने ये भी आरोप लगाया था कि सिर्फ गांधी परिवार को इसका लाभ पहुंचाने के लिए कमलनाथ ने देश और देशवासियों के साथ गद्दारी की। अब भारतीय जनता पार्टी देश के ऐसे गद्दारों को देश के सामने बेनकाब करेगी।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned