कांग्रेस ने दिए सबसे ज्यादा आपराधिक छवि वाले नेताओं को टिकट, भाजपा में 82 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति

हत्या, हत्या के प्रयास सहित अन्य गंभीर अपराधों के उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में

By: Pawan Tiwari

Published: 26 Oct 2020, 11:53 AM IST

भोपाल. राजनीतिक दलों पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का खास प्रभाव नहीं दिखा है। राजनैतिक दलों ने आपराधिक छवि वालों को बराबरी से टिकट दिया है। दलों ने इन्हें टिकिट देने के संबंध में भी कोई ठोस कारण आयोग को नहीं दिए। 28 विधानसभा उपचुनाव वाले क्षेत्र में आपराधिक छवि वाले सबसे ज्यादा प्रत्याशी हैं। 355 उम्मीदवारों में से 63 प्रत्याशी ऐसे हैं। आपराधिक छवि वालों में सबसे ज्यादा टिकट कांग्रेस पार्टी ने दिया है, इसके बाद दूसरे नंबर पर भाजपा है।

एडीआर ने रविवार को जारी रिपोर्ट में बताया है कि इन प्रत्याशियों गंभीर अपराध से लेकर रिश्वतखोरी, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से लेकर महिलाओं पर अत्याचार के मामले तक दर्ज हैं। प्रदेश की दस विधानसभा संवेदनशील हैं, यहां तीन से अधिक प्रत्याशी आपराधिक छवि के चुनाव लड़ रहे हैं। एडीआर के अनुसार, कांग्रेस के 28 में से 14, भाजपा के 12 बीएसपी के 8 और सपा के 14 में से 4 यानी कुल 178 में से 16 उम्मीदवार ने आपराधिक मामले बताए हैं।

कांग्रेस के 6, भाजपा के 8, बीएसपी के 3, सपा के 4 और 13 निर्दलियों पर गंभीर मामले दर्ज हैं। इनमें से एक उम्मीदवार पर हत्या और 7 पर हत्या के प्रयास के मामले दर्ज हैं। 28 विधानसभा में से 10 संवेदनशील निर्वाचित क्षेत्र हैं जहां 3 से 3 या उससे ज्यादा उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

आपराधिक छवि के सर्वाधिक उम्मीदवार
मेहगांव -9
करेरा -5
गोहद - 4
ब्यावरा -4
मुरैना -4
सुमावली -4
अंबाह -3
ग्वालियर -3
भांडेर -3
अटेर -3

इन पर गंभीर मामले :
अजब सिंह कुशवाह, कांग्रेस, सुमावली -धारा 307, हत्या का प्रयास
हेमंत कटारे, मेहगांव, कांग्रेस -धारा 376 एक, 276 दो, युवती ने बंधक बनाने के आरोप लगाया
राकेश पाटीदार, सुवासरा, कांग्रेस-307 हत्या का प्रयास
रघुराज सिंह कंसाना,मुरैना, भाजपा-307 हत्या का प्रयास
दीपक सिंह कुशवाह, भिंड, सपाक्स-307 हत्या का प्रयास

प्रत्याशियों के पास औसतन 1.10 करोड़, 23 फीसदी करोड़पति
चुनाव मैदान में 23 फीसदी करोड़पति हैं। उम्मीदवारों की औसत दौलत 1.10 करोड़ रुपए है। सत्तारूढ़ भाजपा में करोड़पति उम्मीदवार सबसे ज्यादा हैं, जबकि कांग्रेस दूसरे नंबर पर है।

एक नजर में
5 करोड़ से अधिक की सपंत्ति -4 प्रतिशत
2 से 5 करोड़ - 7 प्रतिशत
50 लाख से 2 करोड़ - 22 प्रतिशत
10 लाख से 50 लाख - 28 प्रतिशत
10 लाख से कम - 39 प्रतिशत

दलवार करोड़पति उम्मीदवार
भाजपा - 82 प्रतिशत
कांग्रेस - 79 प्रतिशत
बसपा - 46 प्रतिशत
सपा - 14 प्रतिशत
निर्दलीय - 8 प्रतिशत

अधिकतम सम्पत्ति वाले उम्मीदवार
प्रेमचंद गुड्डू- सांवेर, कांग्रेस - 86.96 करोड़
डॉ. सुशील कुमार प्रसाद- ब्यावरा- भारतीय अमृत पार्टी- 15.17 करोड़
राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव- बदनावर - भाजपा - 13.45 करोड़

सबसे कम संपत्ति वाले उम्मीदवार
चीना बेगम पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया - 3 हजार
सौरभ व्यास - निर्दलीय - 7 हजार
शेख जाकिर शेख - मांधाता - निर्दलीय - 10 हजार


सबसे ज्यादा कर्जदार
ब्यावरा से भारतीय अमृत पार्टी के प्रत्याशी डॉ. सुशील कुमार प्रसाद सबसे कर्जदार उम्मीदवारों में हैं। इन पर 25 करोड़ से अधिक की देनदारियां हैं, जबकि ये 15.17 करोड़ की चल-अचल संपत्ति के मालिक होने के साथ सर्वाधिक प्रॉपर्टी वाले दूसरे उम्मीदवार हैं। भांडेर से कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया 2. 28 करोड़ के मालिक होने के बाद भी 1. 98 करोड़ के कर्जदार हैं। कर्जदारों में ये दूसरे नंबर पर हैं।


भाजपा के प्रभुराम चौधरी सबसे बड़े आयकरदाता
सांची से चुनाव लड़ रहे मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी सबसे बड़े आयकरदाता हैं। 9.23 करोड़ की प्रॉपर्टी के मालिक चौधरी 98.73 लाख आयकर देते हैं। मांधाता से कांग्रेस प्रत्याशी उत्तमपाल सिंह 87.15 लाख आयकर देते हैं। इनकी संपत्ति 9. 88 करोड़ रुपए है।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned