सज्जन ने दिया करारा जवाब, बोले- सबसे पहले विजयवर्गीय की संपत्ति की जांच हो

सज्जन ने दिया करारा जवाब, बोले- सबसे पहले विजयवर्गीय की संपत्ति की जांच हो

By: Manish Gite

Updated: 11 Jan 2019, 01:27 PM IST

भोपाल। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के कमलनाथ सरकार गिराने के बयान पर सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस के दिग्गज नेता और प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने विजयवर्गीय को करारा जवाब दिया है। वर्मा ने विजयवर्गीय पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाते हुए कहा है कि सबसे पहले विजयवर्गीय की संपत्ति की जांच होना चाहिए। वर्मा ने चुनौती देते हुए कहा कि हैसियत है तो अपनी सरकार क्यों नहीं बना लेते।

 

विजयवर्गीय कॉलेज में मेरा जूनियार था

PWD मंत्री सज्जन सिंह वर्मा शुक्रवार को मीडिया से चर्चा कर रहे थे। कमलनाथ सरकार गिराने के विजयवर्गीय के बयान पर उन्होंने कहा कि विजयवर्गीय कॉलेज में मेरा जूनियर रहा है। हैसियत है तो क्यों नहीं अपनी सरकार बना लेते। भाजपा कांग्रेस की सरकार गिराने के लिए विधायकों को करोड़ों रुपयों का लालच दे रही है। वर्मा ने कहा कि सबसे पहले विजयवर्गीय की संपत्ति की जांच कराई जाना चाहिए।

 

टूटे स्कूटर पर चलता था विजयवर्गीय
-टूटे स्कूटर पर चलने वाला इतनी बड़ी-बड़ी बातें इतनी बड़ी-बड़ी उड़ान।
-विजयवर्गीय अगर इतनी ही औकात थी तो बना लेते अपनी सरकार।
-बीजेपी के नेताओं की मति भ्रष्ट हो गई है। तीनों हरल्ले मुख्यमंत्रियों को बनाया है राष्ट्रीय उपाध्यक्ष।

PWD MINISTER

क्या कहा था विजयवर्गीय ने
इससे पहले भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर में कहा था कि कमलनाथ सरकार भाजपा की कृपा से चल रही है और जिस दिन भाजपा आलाकमान को छींक भर आ गई, उसी दिन मध्यप्रदेश में भाजपा फिर से सत्ता में आ जाएगी। उन्होंने बुधवार शाम को भाजपा के एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि यह सरकार कैसी सरकार है? यह सरकार हमारी कृपा से चल रही है, जिस दिन ऊपर से बॉस का इशारा हो जाएगा ना...।

विजयवर्गीय ने कहा था कि हाल ही विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के भ्रम जाल के कारण वोट थोड़ा इधर-उधर हो गया, लेकिन हमें निराश होने की जरूरत नहीं है।

 

KAILASH VIJAY VARGIYA

खरीद-फरोख्त की कोशिश कर रही है बीजेपी
इधर, सत्तारूढ़ कांग्रेस के प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने विजयवर्गीय के विवादास्पद बयान पर कहा है कि उनकी बयानबाजी से साफ है कि चुनावी हार से भाजपा तिलमिलाई हुई है और कमलनाथ सरकार गिराने के लिए विधायकों को खरीदने की कोशिश में लगी हुई है। बीजेपी जनादेश का खुलेआम अपमान कर रही है। उन्होंने विजयवर्गीय पर आरोप लगाया कि वे प्रदेश सरकार के अधिकारियों को धमकाने में लगे हैं, जिससे वे अपने नेताओं के गलत काम करवा सकें।

BJP
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned