चिरायु अस्पताल की लापरवाही से गई कांग्रेस विधायक की जान - कमलनाथ

चिरायु अस्पताल की लापरवाही से गई कांग्रेस विधायक की जान - कमलनाथ

By: Hitendra Sharma

Published: 15 Sep 2020, 01:26 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश के ब्यावरा विधायक की आज कोरोना संक्रमण के बाद मौत पर सियासत शुरु हो गई है। पूर्व सीएम कमल नाथ ने विधायक दांगी की मौत के लिये चिरायु अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाया है। दरअसल विधायक दांगी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनका इलाज चिरायु कोविड सेंटर में हुआ था लेकिन जब हालत में सुधार नहीं हुआ तो उन्हें दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा था।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि भोपाल में दांगी के इलाज में बहुत ज्यादा लापरवाही बरती गई थी। जिसके चलते आज उनकी मौत हो गई। उन्होंने कहा जब दांगी को दिल्ली रैफर किया गया था तब ही उनकी हालत बहुत खराब थी और इसकी तस्दीक दिल्ली अस्पताल प्रबंधन ने की थी। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ चिरायु रो लेकर पहले भी सवाल खड़े कर चुके हैं। अब एक बार फिर विधायक की मौत के मामले में अस्पताल पर आरोप लगाकर कोविड सेंटर की लापरवाही बताया है। अक्सर विवादों में रहने वाला चिरायु अस्पताल पर तालाब की जमीन को लेकर भी बयानबाजी होती रही है।

मध्य प्रदेश में कोराना संक्रमण की चपेट में आने से विधायक का निधन हो गया। कांग्रेस के ब्यावरा विधायक गोवर्धन सिंह दांगी का कोरोना संक्रमण के बाद दिल्ली में इलाज चल रहा था। आज दिल्ली के मेदांता में उनका निधन हो गया। दरअसल ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के परिवार के सदस्य भी कोरोना की चपेट में आ गये थे। उनकी पत्नी और बेटी अगस्त के तीसरे हफ़्ते में कोरोना संक्रमित हो गये थे। बाद में विधायक दांगी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई थी। तीन सप्ताह पहले उन्हें इलाज के लिए भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सुधार नहीं होने पर उन्हें दिल्ली के मेदांता में भर्ती करवाया गया। विधायक दांगी के निधन से मध्य प्रदेश में एक और सीट रिक्त हो गई है। ऐसे में अब मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे ।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned