चहेती कंपनी को ठेका दिया, कंपनी गार्डों से ड्रेस के वसूल रही 15 हजार

चहेती कंपनी को ठेका दिया, कंपनी गार्डों से ड्रेस के वसूल रही 15 हजार

Pushpam Kumar | Publish: Sep, 03 2018 08:15:41 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

मैनिट: पूर्व छात्र संगठन ने सिक्योरिटी टेंडर को लेकर प्रबंधन पर लगाए गंभीर आरोप

भोपाल. मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (मैनिट) प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगे हैं। प्रबंधन पर सिक्योरिटी सर्विसेस के लिए जारी किए गए टेंडर में चहेतों को फायदा पहुंचाने और टेंडर में नियमों को ताक पर रखकर गोलमाल करने के आरोप संस्थान के पूर्व छात्रों ने लगाए हैं।

मैनिट के पूर्व छात्र संगठन एंटी करप्शन क्रसेड के अंशुमान तिवारी का आरोप है कि प्रबंधन ने तमाम नियम कायदों को ताक पर रखकर सिक्योरिटी का टेंडर चहेतों को दे दिया है। प्रबंधन की इस मनमानी की वजह से 200 से अधिक पूर्व सिक्योरिटी कर्मचारियों पर रोजगार का संकट मंडराने लगा है।

 

 

 

ये लगे आरोप
मैनिट परिसर में सुरक्षा व्यवस्था के लिए जेम पोर्टल पर ऑनलाइन टेंडर लिखित सेवा शर्तों के साथ 21 जुलाई को निकाला गया। इसमें कुल 17 कंपनियों ने हिस्सा लिया। टेंडर की 8 सेवा शर्तों के अनुसार टेक्निकल जांच में संस्थान द्वारा 7 कंपनियों को प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया एवं फ ाइनेंशियल बिड के लिए 10 कंपनियों का चयन किया गया।

नियम व शर्तों के अनुसार जिस कंपनी के सबसे काम रेट थे, उसे टेंडर दिया जाना चाहिए था, परंतु सभी कंपनियों के रेट समान आने पर टेंडर किसको दिया जाएगा या इस विषय पर क्या निर्णय होगा, इसका टेंडर में कहीं उल्लेख नहीं है ।
संस्थान प्रबंधन द्वारा खोली गई निविदा में 10 कंपनी के रेट समान आ गए, इस स्थिति में टेंडर को निरस्त करके नया टेंडर खोला जाना चाहिए था। परन्तु प्रबंधन ने ऐसा करना उचित नहीं समझा।


आरोप है कि यहां के एक अधिकारी ने पहले से कंपनी से बातचीत करके टीआरआइओ सिक्योरिटी को टेंडर अवार्ड कर दिया। फि र जब दूसरी कंपनी ने बड़ा ऑफ र दिया तो टीआरआइओ को कैंसिल करके एसआइएस कंपनी को टेंडर अवार्ड कर दिया गया।

जिस एजेंसी को टेंडर दिया गया है वह खुलेआम पुराने गार्डों से 15000 ड्रेस प्लस 3000 मेडिकल के नाम पर रुपए ले रही है। गार्डों ने जब इसकी लिखित शिकायत डायरेक्टर से की तो उन्होंने मामले में चुप्पी साध ली।

Ad Block is Banned