scriptCorona cases reduced, beds and wards will be converted for other treat | कोरोना के केस हुए कम, ऑपरेशन सहित अन्य इलाज के उपयोगों में बदलेंगे बिस्तर और वार्ड | Patrika News

कोरोना के केस हुए कम, ऑपरेशन सहित अन्य इलाज के उपयोगों में बदलेंगे बिस्तर और वार्ड

- अस्पतालों के बाहर बनाए गए फीवर क्लीनिक भी हुए बंद

- वर्तमान में कोरोना के डेढ़ सौ मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं, जो आईसीयू और ऑसीजन बिस्तरों पर हैं

भोपाल

Published: March 04, 2022 10:44:35 pm


भोपाल। प्रदेश में कोरोना के केस अब कम हो गए हैं। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के लिए आरक्षित बिस्तरों और उपकरणों को सामान्य बीमारी और ऑपरेशन सहित अन्य उपचार के उपयोग में लेने के लिए कहा है। वहीं अस्पतालों के बाहर खोले गए सैकड़ों फीवर क्लीनिकों को बंद कर दिया गया है। क्योंकि इन क्लीनिकों में पिछले एक माह से कोई भी मरीज उपचार के लिए नहीं पहुंचे। वर्तमान में कोरोना के डेढ़ सौ मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं, जो आईसीयू और ऑसीजन बिस्तरों पर हैं।
प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए सरकार ने अस्पतालों में इसके लिए 50 हजार से अधिक बिस्तर आरक्षित किए थे। जिसमें ऑक्सीजन और आईसीयू के करीब 40 हजार बिस्तर थे। वहीं सामान्य बिस्तरों की संख्या 16 हजार के आस-पास थी। जबकि दस हजार के करीब सामान्य, आईसीयू और ऑक्सीजन बिस्तर एमरेजेंसी, आकस्मिक ऑपरेशन सहित अन्य कार्यों के लिए आरक्षित किए गए थे। अब जिला अस्तपालों में कोरोना संक्रमण के मरीजों के लिए पांच फीसदी बिस्तर ही आरक्षित किए जाएंगे। सीएमओ को अगर ऐसा लगता है कि कोरोना के लिए इससे कम बिस्तर आरक्षित होना चाहिए तो वह अस्पतालों में इसकी संख्या कम कर सकेगा। इसके अलावा जो डॉक्टर अथवा अन्य पैरामेडिकल स्टाफ जो कोरोना संक्रमण के मरीजों के लिए ही डेडिकेटेड थे, उनकी भी अब सामान्य बीमारियों और ओपीडी में ड्यूटी लगा दी गई हैं। हालांकि अस्तपालों में कोरोना के वार्ड अभी भी बने रहेंगे, जिससे संक्रमितों का इलाज होता रहे। जिलों में कोरोना की जांच की व्यवस्था जारी रहेगी, अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में इसके लिए पैरामेडिकल स्टाफ को भी 50 फीसदी तक कम कर दिया गया है।
डॉ. कच्छवाह की तकनीक अमरीकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के जर्नल में प्रकाशित
डॉ. कच्छवाह की तकनीक अमरीकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के जर्नल में प्रकाशित
प्रदेश के 17 जिलों में एक भी संक्रमित नहीं मिले
भोपाल। प्रदेश के 17 जिलों में शुक्रवार को कोरोना के एक भी नए केस नहीं मिले हैं। वहीं बीते चौबीस घंटे के अंदर 35 जिलों में कोरोना के 153 नए केस मिले। जिसमें सबसे ज्यादा संक्रमित भोपाल में मिले हैं, जिनकी संख्या 26 है। वहीं प्रदेश में कुल एक्टिव केसों की संख्या 1871 है, जिसमें से सबसे ज्यादा 380 एक्टिव केस भोपाल में हैं। दूसरे नम्बर पर इंदौर जिला है, जहां 167 एक्टिव केस हैं। वहीं 5 सौ से अधिक संक्रमित स्वस्थ भी हुए हैं। इसके साथ ही पॉजिटिविटी दर भी एक फीसदी से नीचे आ गई है। शुक्रवार को यह दर 0.4 फीसदी पर रिकार्ड की गई है। वहीं शुक्रवार को 32 हजार लोगों के सैंपलों की जांचें की गई हैं।
---
नए संक्रमित --153
अब तक पॉजिटिव- 1039745
नई मौत-0
कुल मौत- 10732
नए स्वस्थ-515
कुल स्वस्थ- 1027142
कुल एक्टिव प्रकरण--1871

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.