कई क्षेत्रों में बढ़ रहा कोरोना, लगातार बन रहे केंटेन्मेंट, संख्या पहुंची 307

- कमलानगर, पिपलानी, शाहजहांनाबाद, टीलाजमालपुरा में लगातार बढ़ रहा रेड जोन एरिया, कंटेनमेंट संख्या बढ़कर पहुंची 307

भोपाल. राजधानी में कोरोना की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। कमलानगर, पिपलानी, शाहजहांनाबाद, टीलाजमालपुरा के चार एरिया में पिछले एक सप्ताह से लगातार कंटेनमेंट बन रहे हैं। लेकिन यहां नियमों का पालन नहीं हो रहा। पिछले दस दिन में तत्कालीन पीएस स्वास्थ्य से लेकर कलेक्टर स्तर पर तीन बार कंटेनमेंट एरिया में सख्ती करने को लेकर बैठकें की जा चुकी हैं। पालन नहीं हो रहा, इस कारण कंटेनमेंट एरिया में कोरोना की रफ्तार और बढ़ती ही जा रही है। इन क्षेत्रों में कोरोना का चेन तेजी से बढ़ रही है। अगर यही हालात रहे तो इन क्षेत्रों के आस-पास के एक दर्जन से ज्यादा इलाकों में भी कोरोना दस्तक सुनाई देने लगेगी।

राजधानी में 2504 केस के साथ 307 कंटेनमेंट क्षेत्र बन चुके हैं। लगातार छह क्षेत्रों में कंटेनमेंट बनने से साफ होता है कि यहां पहले जैसी सख्ती नहीं हो रही। इस कारण ही कोरोना पांव पसार रहा है। कंटेनमेंट एरिया से लोगों की आवाजाही बनी हुई है। पहले की तरह अधिकारी इन क्षेत्रों में गश्त भी नहीं कर रहे हैं। न बैरीकेटस लगाए गए, इस इन क्षेत्रों के कंटेनमेंट बनने के बावजूद दुकानें खुली हुई है। लोग झुंड बनाकर बातचीत कर रहे हैं, मास्क भी नहीं लगा रहे। सोशल डिस्टेंस का पालन भी इन क्षेत्रों में नहीं किया जा रहा।

इन क्षेत्रों में ज्यादा सामने आ रही लापरवाही
पुराने शहर में कई एरिया हैं जहां छोंटी-छोटी लापरवाही भारी पड़ रही है। इससे कोरोना फैलने की संभावना और बढ़ती जा रही है। इन क्षेत्रों में अहीरपुरा, जिंसी रोड, सबाना चौराहा, पातरा पुल, चर्च रोड, गली नंबर एक, चिकलोद रोड, ओल्ड सुभाष नगर, बाग फरहत अफ्जा, बाग उमराव दूल्हा, सुदामा नगर, ऐशबाग स्टेडियम, बाणगंगा, शास्त्री नगर, पंचशील नगर, राहुल नगर क्षेत्र हैं। इन्हीं क्षेत्रों के ज्यादातर लोग फीवर क्लीनिक पर भी पहुंच रहे हैं। बरसात शुरू होने के बाद लोगों में जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षण भी बढ़े हैं।

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned