भोपाल में रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब कंट्रोल रूम से पता चलेगा कहां होना है भर्ती

खुद अस्पताल पंहुच रहे एसिम्पटोमेटिक और दूसरे जिलों के मरीजों के कारण बिगड़ रही व्यवस्थाओं को सुधारने की कवायद

भोपाल। राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 15 हजार के पार पहुंच गया है। लगातार मरीज सामने आने और अस्पतालों में भर्ती होने के लिए कोई सख्त गाइडलाइन और समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है वे सभी खुद भर्ती होने अस्पताल पहुंच रहे हैं। बड़ी संख्या में बिना लक्षण वाले और बाहर के मरीजों के भोपाल के कोविड सेंटरों में भर्ती होने के कारण अस्पतालों में गंभीर मरीजों को भी बेड पाने के लिए जूझना पड़ रहा है और विवाद भी हो रहे हैं। इस स्थिति को देखते हुए अब प्रशासन ने तय किया है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मरीज को जिले के कोविड़ कंट्रोल एंड कमांड सेंटर में फोन करना होगा। यहां मौजूद डॉक्टर मरीज के लक्षणों के आधार पर तय करेंगे कि उसे किस अस्पताल में भर्ती करना है या होम आईसोलेशन में रखना है।

गौरतलब है कि अभी भोपाल के निजी और सरकारी कोविड सेंटरों में अन्य जिलों के भी लगभग 700 मरीज भर्ती हैं। इनमें से भी केवल 30 प्रतिशत अन्य जिलों से रेफर होकर आए हैं अन्य 70 प्रतिशत खुद ही आकर भर्ती हो गए हैं। इसलिए अब नई व्यवस्था बनाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार अस्पतालों में जरूरतमंद गंभीर मरीजों को समय पर उपचार मुहैया कराने के लिए ये नई व्यवस्था शुरू की जा रही है कि मरीज को अस्पताल पंहुचने से पहले शहर के कोविड़ कंट्रोल रूम के नंबर्स 0755-2704201/07/12/25 या 0755-1075 पर फोन करना होगा। इस कंट्रोल रूम से पता चलेगा कि मरीज के लक्षणों के आधार पर किस अस्पताल में बेड खाली हैं। डॉक्टरों के मुताबिक जिन मरीजों की सिर्फ रिपोर्ट पॉजिटिव है उनका ऑक्सीजन लेवल भी 97 के ऊपर है वे भी अस्पताल पंहुच जाते हैं। अब इन्हें होम आइसोलेशन में रखकर दिन में दो बार वीडियो कॉलिंग कर डॉक्टर सेहत का हाल पूछेंगे। जरूरत हुई तो डॉक्टरों की टीम होम आईसोलेट मरीजों के घर जाकर भी उपचार करेगी।

राजधानी में 15 हजार के ऊपर पहुंची कोरोना मरीजों की संख्या, 274 नए संक्रमित मिले

राजधानी में कोरोना के 274 नए मरीज मिले हैं। वहीं चार मरीजों की मौत हो गई और 150 मरीज स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से डिस्चार्ज किए गए। राजधानी में इसके साथ ही मरीजों की कुल संख्या 15211 हो गई है। रविवार को आई रिपोर्ट में सीएम हाउस और राजभवन में भी एक-एक कर्मचारी पॉजिटिव पाया गया है। गांधी मेडिकल कॉलेज 7 लोग, एम्स और जेपी अस्पताल में भर्ती दो मरीजों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। थ्री ईएमई सेंटर के तीन जवान, मिलिट्री केम्प के 2 जवान और 25वीं बटालियन के दो जवान संक्रमित मिले हैं। गौरवी सेंटर में दो लोग, गुलाबी नगर में 6 लोग, चित्रगुप्त नगर में दो परिवारों के 6 लोग, चार इमली में 4 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned