कोरोना का कहर : संक्रमण का खतरा बढ़ा, 35 जिलों में पहुंचा कोरोना, अब गिरफ्त में गांव

- लॉकडाउन फेस-3 में संक्रमण का खतरा अब और बढ़ता जा रहा है
- पिछले डेढ़ हफ्ते में करीब सात से ज्यादा नए जिलों में कोरोना पहुंचा
--

jitendra [email protected] भोपाल। लॉकडाउन के फेस-3 में सरकार क्लीन जिलों में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ा रही है, लेकिन दूसरी ओर मध्यप्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। अब कोरोना मध्यप्रदेश के 35 जिलों तक पहुंच गया है। चिंता ये कि अभी तक शहरी क्षेत्रों को निशाना बनाने वाले कोरोना ने अब गांवों को भी अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है। प्रदेश के 60 से ज्यादा गांव हैं, जहां पर कोरोना के मरीज पाए गए हैं। ग्रामीण इलाका अब तक कोरोना संक्रमण से दूर रहा था, लेकिन अब यदि ऐसी ही स्थिति रहती है तो स्थिति और गंभीर हो सकती है।
--
प्रदेश में 15 अप्रैल की स्थिति में 26 जिले ही कोरोना की गिरफ्त में थे, जो कुल जिलों का पचास प्रतिशत है। लेकिन, अब 4 अप्रैल की स्थिति में प्रदेश में 36 जिले कोरोना की गिरफ्त में हैं। पिछले करीब एक हफ्ते में निवाड़ी, पन्ना, कटनी, अशोकनगर, सतना, डिंडौरी और रीवा में कोरोना पॉजीटिव मरीज सामने आए हैं। ये नए जिले हैं, जो क्लीन जोन से ओरेंंज जोन में पहुंच गए। इन जिलों में आर्थिक गतिविधियों का संचालन शुरू करने के ऐलान के बाद संक्रमण पाया गया है, जिसके बाद संक्रमित इलाकों को सील किया गया। इन पिछड़े जिलों व अंचल के ही करीब साठ गांव कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में है। सरकार के सामने अब इस बढ़ते संक्रमण को रोकने की चुनौती है, क्योंकि ग्रामीण इलाकों और क्लीन जिलों में सबसे ज्यादा गतिविधियों की छूट दी गई है।
--
दायरा बढऩे के साथ बढ़े मरीज-
पंद्रह अप्रैल की स्थिति में प्रदेश के पचास प्रतिशत जिले कोरोना की गिरफ्त में थे, तब कुल 741 मरीज थे और 53 मौतें हुई थी। वही अब 2837 मरीज हो चुके हैं और मौतें भी बढक़र 156 हो गई हैं। दोनों में करीब ढ़ाई गुना से ज्यादा वृद्धि दर्ज की गई है। लेकिन, यह वृद्धि नए जिलों की बजाए इंदौर, भोपाल और रेड जोन वाले दूसरे जिलों की अधिक है। नए जिलो में इक्का-दुक्का केस ही फिलहाल सामने आए हैं। लेकिन, इंदौर, भोपाल, उज्जैन के बाद रायसेन, धार, खंडवा, होशंगाबाद, बुरहानपर, रतलाम में भी तेजी से केस बढ़े हैं।
--
लक्ष्य से उलटी है अभी स्थिति-
सरकार ने मध्यप्रदेश में लक्ष्य रखा है कि आने वाले दो हफ्ते में रेड जोन को ओरेंज और ओरेंज को क्लीन जोन में बदलना है, लेकिन फिलहाल स्थिति उलटी है। अभी तक क्लीन जिले तेजी से ओरेंज जोन में बदल रहे हैं। हर दिन बढ़ते जिलों के कारण यह स्थिति बन रही है।
--
यूं समझे कोरोना का बढ़ता संक्रमण-
- 15 अप्रैल की स्थिति में 26 जिलों तक कोरोना
- 20 अप्रैल की स्थिति में 26 जिलों में कोरोना
- 25 अप्रैल की स्थिति में 26 जिलों में संक्रमण
- 30 अप्रैल की स्थिति में 31 जिलों में संक्रमण
- 04 मई की स्थिति में 35 जिलों तक कोरोना

जीतेन्द्र चौरसिया Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned