कोरोना संक्रमण रोकने में लगे डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और स्वास्थ्य कर्मियों से खाली नहीं करा सकेंगे मकान

एडीएम ने धारा 144 के तहत जारी किया आदेश

भोपाल। कोरोना वायरस जैसी महामारी की रोकथाम में लगे डॉक्टर ,पैरा मेडिकल स्टाफ और स्वास्थ्य कर्मियों पर दबाब बनाकर मकान खाली करवाने पर धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगा दिया गया है। फिलहाल मकानमालिक इनसे मकान खाली नहीं करा सकेंगे। इसके लिए दबाव बनाने पर मकानमालिकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एडीएम भोपाल द्वारा राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं धारा 144 भारतीय दंड संहिता 1973 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। जारी आदेश में भोपाल जिले में पदस्थ सभी एसडीएम, तहसीलदार और थाना प्रभारी को निर्देशित किया गया है कि जो लोग मकान खाली करने के लिए डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, स्वास्थ्य कर्मियों के ऊपर अनावश्यक दबाव बनाते हैं, उनके कानून एवं नियमों के अंतर्गत सख्त कार्रवाई करें। इस संबंध में की गई कार्रवाई का प्रतिदिन प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए गए हैं। यह आदेश तत्काल प्रभावशील हो गया है।

उल्लेखनीय है कि भोपाल जिले में विभिन्न स्थानों पर किराए के भवनों में रहने वाले डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा शिकायत की गई है कि उनके मकान मालिक द्वारा उनको मकान खाली करने के लिए अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है। आदेश में कहा गया है कि मकान मालिकों के इस तरह के अमानवीय व्यवहार से लोक सेवकों को अपने कर्तव्यों के निर्वहन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यह कृत्य शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने की श्रेणी में आता है जो कि दंडनीय अपराध है।

14 अप्रेल तक कोर्ट भी रहेंगे बंद

भोपाल. लॉकडाउन में जिले के सभी कोर्ट में किसी प्रकार का काम नहीं होगा, कोर्ट बेद रहेंगे। केवल आवश्यक मामलों की सुनवाई जिला एवं सत्र न्यायाधीश भोपाल की तरफ से निश्चित किए गए समय और स्थान पर होगी। इसके लिए जिला न्यायालय की अनुमति अनिवार्य है। अधिवक्ताओं और पक्षकारों को भवन में एंट्री देने के लिए अनुमति का आवेदन कोर्ट की अधिकारिक साइट पर कर सकते हैं।

सुनील मिश्रा
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned