RBI ने खोले राहत के दरवाजे, बैंक तीन महीने तक EMI में दे सकते हैं छूट

बैंकों से लोन की ईएमआई दे रहे लोगों को 3 महीने तक राहत देने की सलाह.....

भोपाल। कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा दिए गए आदेश के बाद पूरे देश में 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। पूरे भारत में अब तक कोरोना वायरस (coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या लगभग 724 तक पहुंच चुकी है। इससे मरने वालों की संख्या 17 हो गई है। वहीं कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज लोन लेने वाले ग्राहकों को बड़ी राहत दी है।

emi_5920231_835x547-m.jpg

बता दें कि आज RBI ने सभी बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्‍तीय संस्‍थाओं (NBFC) और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के साथ अन्‍य वित्‍तीय संस्‍थानों को टर्म लोन की किस्‍त तीन महीने तक टालने की अनुमति दी है। आरबीआई के मुताबिक रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है. इस कटौती के बाद रेपो रेट 5.15 से घटकर 4.45 फीसदी पर आ गई है। यहां बता दें कि आरबीआई ने आदेश नहीं, सिर्फ सलाह दी है। इसका सीधा मतलब ये है कि बैंकों को अब तय करना है कि वो आम लोगों को ईएमआई पर छूट दे रही हैं या नहीं।

emi-1585214861.jpg

इतना ही नहीं बैंक ही तय करेंगे कि कौन से लोन पर ईएमआई की छूट दे रहे हैं। अभी तक इस बात पर कन्फ्यूजन बना हुआ है रिटेल, कमर्शियल या अन्य तरह के लोन लेने वालों में किसको इसकी लाभ मिलेगा। बता दें कि आरबीआई के द्वारा रेपो रेट कटौती का फैसला ऐतिहासिक है। रेपो रेट कटौती का फायदा होम, कार या अन्य तरह के लोन सहित कई तरह के ईएमआई भरने वाले करोड़ों लोगों को मिलने की उम्मीद है। इसके साथ ही नए लोन लेने वाले ग्राहकों को भी फायदा मिलेगा।

RBI Recruitment 2020

इन सब के बीच आरबीआई गवर्नर के मुताबिक सभी कमर्शियल बैंकों को ब्याज और कर्ज अदा करने में 3 महीने की छूट दी जा रही है। इस फैसले से 3.74 लाख करोड़ रुपये की नकदी सिस्टम में आएगी। साथ कोरोना के फ्रकोप को देखते हुए गवर्नर ने ये भी आदेश दिए हैं कि डिजिटल बैंकिंग का इस्तेमाल करें।

Ashtha Awasthi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned