सब इंस्पेक्टर-प्लाटून कमांडर परीक्षा घोटाले में 34 के खिलाफ चालान पेश

सब इंस्पेक्टर-प्लाटून कमांडर परीक्षा घोटाले में 34 के खिलाफ चालान पेश

Sunil Mishra | Publish: Apr, 23 2019 07:26:18 AM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 07:26:19 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

रसूखदारों की सिफारिश से डाटा में छेड़छाड़ कर हुए फर्जी चयन, सीबीआई ने पेश किया चालान...

भोपाल। व्यापम में हुए सब इंस्पेक्टर - प्लाटून कमांडर 2012 परीक्षा घोटाले के मामले में खनन कारोबारी सुधीर शर्मा , कांग्रेस नेता संजीव सक्सेना, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के ओएसडी ओपी शुक्ला, भरत मिश्रा सहित 13 मिडिलमेन की सिफारिश से 17 परीक्षार्थियों का फर्जी चयन हुआ था।

व्यापम के तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी सहित अन्य दागी अफसरों ने सिफारिश पर कंप्यूटर डाटा में छेड़छाड़ कर परीक्षा में परीक्षार्थियों के अंक बढाये थे । मामले में पेश चालान में यह बताया गया है । ओपी शुक्ला की सिफारिश से 4, भरत मिश्रा की सिफारिश से 7, संजीव सक्सेना की सिफारिश से 2, सुधीर शर्मा की सिफारिश से 4 परीक्षार्थियों का फर्जी चयन हुआ था।

 

 

सीबीआई ने सोमवार को व्यापम के 4 दागी अफसरों , अफसरों से सिफारिश करने वाले 13 मिडिल मेन और 17 परीक्षार्थियों के खिलाफ जिला अदालत में अंतिम चालान पेश किया। विशेष सत्र न्यायाधीश सीबीआई अजय श्रीवास्तव की अदालत में सभी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, धोखाधड़ी , दस्तावेजो में कूूटरचना , मान्यता प्राप्त परीक्षा अधिनियम और आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के अंतर्र्गत चालान पेश किया गया। इस दौरान सीबीआई के वकील सतीश दिनकर अदालत में मौजूद थे।

नोटिस तामीली बाद भी अदालत में उपस्थित नहीं होने पर अदालत ने परीक्षार्थी हर्षवर्धन सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने के आदेश दिये हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned