24 साल बाद आया फैसला, ठेकेदार को 4 साल की कैद, 17 लाख जुर्माना

24 साल बाद आया फैसला, ठेकेदार को 4 साल की कैद, 17 लाख जुर्माना
युवती की नहाते हुए क्लिपिंग बनाने वाले युवक को भेजा जेल

Sunil Mishra | Updated: 21 Sep 2019, 08:19:40 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

1 करोड 50 लाख के घोटाले के मामले में अदालत ने सुनाई सजा

भोपाल. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में इंडोर म्यूजियम के निर्माण में हुए करीब 1 करोड 50 लाख रूपये घोटाले के करीब 24 साल पुराने मामले में अदालत ने राजधानी परियोजन प्रशासन सीपीए के तत्कालीन अधीक्षण यंत्री जेएन कृपलानी, कार्यपालन यंत्री डीएन अग्रवाल और ठेकेदार दयाल डेटानी को 4-4 साल के सश्रम कारावास- 17 लाख रूपये जुर्माने की सजा सुनाई है।

विशेष सत्र न्यायाधीश लोकायुक्त भगवत प्रसाद पाण्डेय ने शुक्रवार को यह फैसला सुनाया। फैसले के बाद तीनों को जेल भेज दिया गया। हांलाकि उन्होंने जुर्माने की रकम जमा करा दी। मामले की खास बात यह है कि लोकायुक्त पुलिस ने 1 करोड 42 लाख रूपये के घोटाले के मामले में चालान पेश किया था। अदालत ने गवाहों- दस्तावेजों के आधार पर 1 करोड 50 लाख का घोटाला माना।

फैसला आने में लगे 24 साल

वर्ष 1994-96 के बीच हुए घोटाले में लोकायुक्त ने वर्ष 1997 में एफआईआर दर्ज कर जांच के बाद चालान पेश किया था। मामले में कुल 19 लोगों की गवाहों के बयान दर्ज हुए। इसमें करीब 18 साल लग गए। वर्ष 2013 से मामला अन्तिम बहस के लिए नियत था। इस दौरान करीब 5 जजों के तबादले हो गए। अब अदालत ने सभी संबंधित पक्षों की सुनवाई कर शुक्रवार को फैसला सुना दिया है।

यह है मामला

लोकायुक्त के अभियोजक रामकुमार खत्री ने बताया कि वर्ष 1994-96 के दौरान मानव संग्रहालय के इनडोर म्युजियम के निर्माण में सीपीए के इंजीनियरों ने भ्रष्टाचार कर टेन्डर की निर्धारित दरों से अत्यधिक बढी हुई कीमतों पर एक्सट्रा आयटम खरीदकर करीब 1 करोड 42 लाख रूपये का घोटाले को अन्जाम दिया था।

सीपीए से इन्डोर म्यूजियम के निर्माण का 6 करोड 52 लाख का टेन्डर मेसर्स एम संस के प्रोपराईटर दयाल डेटानी को मिला था। सीपीए के इन्जीनियरों ने भ्रष्टाचार कर सेन्ट्रिंग, सटरिंग, लोहे कॉन्क्रीट का काम, प्लास्टर की दरें अनुबंध की दर से स्वेच्छा से कई गुना बढा कर ठेकेदार को भुगतान कर दिया था। शिकायत मिलने पर लोकायुक्त पुलिस ने वर्ष 1997 एफआईआर दर्ज की थी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned