पूर्व सचिव की बेटी के साथ कार सवार युवक ने कारोबारियों के दो बेटों को पीटा, एक युवक जान बचाने चलती कार से कूदा

पूर्व सचिव की बेटी के साथ कार सवार युवक ने कारोबारियों के दो बेटों को पीटा, एक युवक जान बचाने चलती कार से कूदा

Ram kailash napit | Publish: Nov, 11 2018 03:02:01 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

-कार में युवकों को बंधक बनाकर शहर के अलग-अलग इलाकों में घूमता रहा आरोपी

भोपाल. मिमिक्री का वीडियो वायरल करने के संदेह में विफरे युवक ने दो कारोबारियों के बेटों को चलती कार में बंधक बनाकर पीटता रहा। आरोपी शहरभर में कार में उन्हें घुमाते हुए मारपीट करते रहे। आरोपियों से बचने शुक्रवार रात करीब साढ़े बाहर बजे एक युवक ने चलती कार से छलांग लगा दी। नाजुक हालत में उसका उपचार चल रहा है। 24 घंटे बाद भी उसे होश नहीं आया है। बताया गया कि कार श्रुति शर्मा नाम की युवती चला रही थी। मारपीट में घायल युवक का कहना कि श्रुति नाम की युवती खुद को विधानसभा के पूर्व सचिव सत्यनारायण शर्मा की बेटी बताती है। मालुम होकि श्रुति एमबीबीएस छात्र यश पाठे खुदकुशी मामले में जेल जा चुकी है। हालांकि पुलिस का कहना श्रुति को मामले में अभी आरोपी नहीं बनाया गया है। घायल के बयान के बाद श्रुति की भूमिका स्पष्ट हो सकेगी। पुलिस ने साधारण मारपीट की धाराओं में केस दर्ज किया है।

चूनाभट्टी थाने के एएसआई बाबू सिंह ने बताया कि ग्लोबस फैबसिटी चूनाभट्टी निवासी एनएल सिंह ठेकेदारी करते हैं। उनका 24 वर्षीय बेटा इशान सिंह भी उनके साथ ठेकेदारी का काम देखता है। 9 नवंबर की रात इशान को दोस्त शशांक नैनवानी ने फोन किया और उसे चूनाभट्टी स्थित सुयश अस्पताल के पास मिलने बुलाया। यहां कार में फरहान और श्रुति बैठे थे। इशान भी कार में बैठ गया। इस दौरान किसी पुराने विवाद के चलते फरहान ने चलती कार में ही इशान के साथ गाली गलौच शुरू कर दी। विरोध करने पर बेल्ट से मारपीट भी की गई। जान बचाने के लिए इशान चलती कार से कूद गया।

आपबीती: एक घंटे तक पीटने के बाद चाकू अडा़कर इशान को बुलवाया
अशोका गार्डन निवासी 25 वर्षीय शंशाक इंजीनियरिंग की पढाई कर रहा है। उसके पिता की गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में फैक्टरी है। शशांक के अनुसार रात करीब ग्यारह बजे ग्यारह सौ क्वार्टर इशान को छोडऩे आया था। उसके जाने के बाद श्रुति और दो युवक कार में जबरन घुस आए। वह मुझे कार से प्रोफेसर कॉलोनी और छोटे तालाब के किनारे ले गए। करीब एक घंटे तक उन्होंने मारपीट करते रहे। उसके बाद उन्होंने वीडियो दिखाते हुए चाकू अड़ाकर इशान को बुलाने को कहा। इसके बाद हम चुनाभट्टी आ गए। मैंने इशान को कॉल करके बुला लिया। उन्होंने उससे भी गाली-गलौच करते हुए मारपीट शुरू कर दी। इशान अपना फोन निकालकर डायल-100 को कॉल करने की कोशिश करने लगा। वह उससे फोन छुड़ाने लगे। डर के कारण इशान चलती गाड़ी से आइआइएचएम के सामने कूद गया। उसके गिरने के बाद हम गाड़ी रोककर उसके पास आए, तो वह बेहोश था। मैं उनसे इशान को पास के निजी अस्पताल में ले जाने के लिए कहता रहा था, लेकिन वह नहीं माने।
( जैसा शशांक नैनवानी ने पुलिस को दिए बयान में बताया )

50 की रफ्तार में कूदा, 15 फीट तक घिसटा
होश नहीं आने की वजह से इशान के बयान नहीं हो सके हैं। बताया गया कि जब इशान कार से कूदा तब कार की रफ्तार 50 किमी प्रति घंटे से अधिक थी। इशान करीब 15 फीट तक सड़क पर घिसटता गया। बेसुध होने पर आरोपी ही कार से उसे अस्पताल लेकर गया।
दो घंटे बाद शशांक ने दी पिता को सूचना
घायल इशान के पिता एनएल सिंह गुर्जर का कहना कि इशान को आरोपी फरहान हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां पर दो घंटे तक फरहान शशंाक को धमकाता रहा। देर रात शशांक का फोन आया। तब उसने घटना के बारे में बताया। इसके बाद बेटे की नाजुक हालत देख उसे बंसल अस्पताल लेकर आया।
मिमिक्री के वीडियो वायरल को लेकर विवाद
बताया गया कि दीवाली की रात इशान और उसके दोस्त यश एक स्थान पर जमा हुए थे। जहां पर फरहान की मिमिक्री किसी यश नाम के लड़के ने की थी। जिसका वीडियो किसी ने चुपके से अपने मोबाइल में बना लिया था। वीडियो वायरल होने के बाद फरहान को संदेह था कि इशान ने ही वायरल किया है। इतना ही नहीं उस वीडियो में जितने युवक दिखाई दे रहे हैं, उन सभी को फरहान ने मारपीट की धमकी दी थी। वीडियो में नजर आने वाले शशांक के साथ वह मारपीट कर चुका था।

घायल युवक के बयान नहीं हो सके हैं। श्रुति की अपराध में भूमिका को लेकर घायल ही बता सकेगा। उसके बयान के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
-संजय साहू, एएसपी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned