पति ने कचरे में फेंका भ्रूण, हमीदिया अस्पताल प्रशासन ने पुलिस से की शिकायत

पुलिस ने की जांच तो पता चला कि भ्रूण मेल बेबी का, कन्या भ्रूण हत्या का नहीं बना मामला...

भोपाल। हमीदिया अस्पताल में पहुंची एक महिला मरीज के कारण अस्पताल में खलबली मच गई। दरअसल भोपाल से लगे एक गांव की महिला पांच महीने की गर्भवती थी। उसने घर पर किसी तरह का जहर खा लिया, जिससे उसका गर्भपात हो गया और पांच माह का भ्रूण बाहर आ गया।

महिला का पति भ्रूण को एक पॉलीथिन में रखकर अपनी पत्नी को लेकर अस्पताल आ गया। अस्पताल के डॉक्टरों ने महिला को बचाने के लिए उसे मेडिकल वार्ड दो में भर्ती कर लिया। इस बीच महिला के पति ने भ्रूण से भरी पॉलीथिन को कचरे में फेंक दिया। जहां से भ्रूण कहां गया किसी को पता नहीं चला।

जब इस बात की जानकारी हमीदिया अस्पताल प्रशासन को लगी तो कन्या भ्रूण हत्या के शक में कोहेफिजा थाना में जांच के लिए एक आवेदन दे दिया। इधर कोहेफिजा थाना इंचार्ज सुधीर अरजरिया ने बताया कि आवेदन मिला है, लेकिन पूछताछ में पता चला कि भ्रूण एक मेल बेबी का था, इसलिए यह मामला कन्या भ्रूण हत्या का नहीं बनता। इसी आधार पर जांच को आगे नहीं बढ़ाया गया है। बाकी महिला ने किन कारणों से जहर खाया था, यह संबंधित थाना का मामला है।

इधर, 20 हजार रुपए का लालच देकर धर्मांतरण का झांसा...

अयोध्या नगर इलाके की क्रेशर बस्ती में रह रहे एक परिवार ने दो महिलाओं पर धर्मांतरण करने को लेकर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। परिवार का आरोप है कि महिलाओं ने 20 हजार रुपए हर माह देने का लालच दिया था। करीब दो साल से वह धर्मांतरण करने का दबाव बना रही हैं।

इसको लेकर बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने थाने में महिला को ले जाकर शिकायत दर्ज कराई। थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह का कहना कि आवेदन की जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। बजरंग दल के पदाधिकारी लोकेन्द्र मालवीय ने आरोप लगाया कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जबकि इस मामले में तुरंत एफआईआर होनी थी।

Show More
सुनील मिश्रा
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned