तीन करोड़ रुपए का काम कराने डेढ़ करोड़ रुपए का कंसलटेंट नियुक्त किया

इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम देवेंद्र शर्मा भोपाल काम हो न हो, कंसलटेंट जरूर नियुक्त करना है और वह भी काम की कुल राशि का 50 फीसदी हिस्सा देकर।

भोपाल। काम हो न हो, कंसलटेंट जरूर नियुक्त करना है और वह भी काम की कुल राशि का 50 फीसदी हिस्सा देकर। भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) में तो यही स्थिति नजर आ रही है। कंपनी ने शहर के ट्रांसपोर्ट सिस्टम को हाईटेक करने अपने इंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम (आईटीएस) में कंसलटेंट की फीस को एक बड़ा आयाम दे दिया।

इससे जुड़े तीन करोड़ रुपए के काम को कराने के लिए कंपनी ने डेढ़ करोड़ रुपए का कंसलटेंट नियुक्त किया गया है। यानि राशि का 50 फीसदी पैसा तो कंसलटेंट ही ले जाएगा।

विश्वबैंक की मदद से शहर के ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सुधारने करीब १२ करोड़ रुपए की मदद मिली है। इसमें से तीन करोड़ रुपए ऑनलाइन के काम पर खर्च किया जाना है। ये काम करीब तीन करोड़ रुपए का है, जिसमें एमआईएस सॉफ्टवेयर डेवलप करना है।

बीसीएलएल की और से इस तीन करोड़ के काम के लिए दिल्ली की एक फर्म को डेढ़ करोड़ रुपए में बतौर कंसलटेंट नियुक्त कर लिया है। बीसीएलएल के एडिशनल सीईओ ओपी भारद्वाज का कहना है कि जो प्रक्रिया है काम उससे ही होगा। एेसे में समझा जा सकता है कि किस तरह कर्ज से लिए रुपयों को भी आमजन की सुविधा बढ़ाने की बजाय निजी कंपनियों की जेब भरने में खर्च किया जा रहा है।

 

प्रोजेक्ट का एक फीसदी तक कंसलटेंट को देने का है नियम
बतौर कंसलटेंट काम करने वाले बीडीए के पूर्व चीफ आर्किटेक्ट अवनीश सक्सेना का कहना है कि कंसलटेंट की फीस प्रोजेक्ट कॉस्ट के आधार पर आंकलित की जाती है। ये अधिकतम एक फीसदी तक होती है। प्रोजेक्ट कम राशि का है तो फीस चर्चा के आधार पर तय होती है।

कंसलटेंट पर इस तरह खर्च

- 12000 करोड़ रुपए से अधिक के भोपाल-इंदौर मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट अभी भले ही कागजों में ही दौड़ रहा है, लेकिन नगरीय प्रशासन विभाग की मेट्रो रेल कारपोरेशन ने 600 करोड़ रुपए से कंसलटिंग फर्म नियुक्त कर दी। इसे ऑफिस भी मेट्रो कंपनी ही दे रही है।
- 832 करोड़ रुपए के नर्मदा पेजयल प्रोजेक्ट में करीब 200 करोड़ रुपए कंसलटेंट की जेब में ही गए हैं।

- 450 करोड़ रुपए के बीआरटीएस में अलग-अलग चार कंसलटेंट नियुक्त किए थे और इन्हें भी 100 करोड़ रुपए से अधिक राशि दी थी।

 

देवेंद्र शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned