scriptcyber cell said to Victims of instant loan app proactivity is solution | राजधानी के शहरी क्षेत्र में अब तक 200 लोग इंस्टेंट लोन ऐप के शिकार | Patrika News

राजधानी के शहरी क्षेत्र में अब तक 200 लोग इंस्टेंट लोन ऐप के शिकार

- साइबर सेल में शिकायत: बिना दस्तावेज कर्ज देने के लालच में फंस रहे लोग
- साइबर सेल ने कहा, सक्रियता ही उपाय

भोपाल

Published: August 01, 2022 03:52:38 pm

भोपाल। बिना दस्तावेज कर्ज देने वाले मोबाइल ऐप लोगों की जिदंगी तबाह कर रहे हैं। शहर में 200 ऐसे लोग हैं जिन्होंने इन ऐप से लोन लेने और ब्लैकमेल किए जाने की शिकायत साइबर सेल में दर्ज करवाई है। पहले लोन देना फिर महंगा ब्याज सहित मूलधन वापस मांगना और बाद में ब्लैकमेल करना इन ऐप का काम है। कोई व्यक्ति तत्काल लोन पाने के लालच में इन लोन देने वाले ऐप को इंस्टाल करता है।

instant_loan_app.jpg
,,

डाउनलोडिंग के समय ये ऐप यूजर से उसकी गैलरी, कॉन्टैक्ट्स, लोकेशन आदि के एक्सेस की परमिशन मांगते हैं, जो अक्सर यूजर दे देते हैं। कई बार ये ऐप्स यूजर के फोन में बिना उसकी जानकारी के ही थर्ड पार्टी ऐप्स या मालवेयर इंस्टाल कर देते हैं और इसके जरिए यूजर की निजी जानकारियां चुरा लेते हैं। ये तत्काल लोन के नाम पर पूरा पैसा भी नहीं देते, बल्कि 60-70 प्रतिशत ही यूजर के खाते में ट्रांसफर किया जाता है।

मान लीजिए किसी ने 6 हजार रुपए लोन लिए, तो उसे महज 3,700-3,800 रुपए ही दिए जाएंगे, बाकी के 2,200-2,300 रुपए सर्विस और दूसरे चार्ज के नाम पर काट लिए जाते हैं। इन ऐप्स से लिए लोन पर 35% तक का इंटरेस्ट रेट लगता है। ड्यू डेट पर किस्त नहीं चुकाने पर अगले दिन से फ्लैट 3 हजार रुपए तक की पेनल्टी हर रोज लगती है।


साइबर पुलिस ने बताया कैसे बचें

- ऑनलाइन फेसबुक इंस्टाग्राम पर फर्जी एड से बचे एवं सत्यता की जांच कर ही लेनदेन करें।

- लोन लेने के लिए कोई ऐप डाउनलोड नहीं करें। बीमा पॉलिसी कराना भी कोई शर्त नहीं है।

- अनावश्यक लोन के झंझट में नहीं पड़ें।

- सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लुभावने लोन ऑफर देने वाले ठगों से सावधान रहें।

- लोन की जरूरत होने पर संबंधित बैंक में जाकर ही लोन की प्रक्रिया करें।

- ठगों द्वारा फर्जी लोन ऐप के माध्यम से भी लोन ऑफर दिए जाते हैं।

- ऐप डाउनलोड करने से पहले कोई परमिशन पर ओके नहीं करें।

- कोई भी बीमा पॉलिसी लेने से पहले उसकी नियम व शर्ते अवश्य पढ़ें।

- बीमा पॉलिसी अधिकृत एजेंट व उसकी जानकारी के संबंध में संतुष्टि बाद ही खरीदें।

- घटना की सूचना सायबर क्राइम के हेल्पलाइन नम्बर 9479990636, राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 1930 पर दें।

हर में 200 ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें लोग इंस्टेंट लोन ऑपरेटर की ब्लैकमेलिंग का शिकार हो रहे हैं। ये वो लोग हैं जो सामने आए हैं। ऐसे मामलों में केवल सतर्कता से ही बचा जा सकता है।
- अमित सिंह, डीसीपी, क्राइम ब्रांच

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.