scriptDamage control efforts intensified just before MP elections | डैमेज कंट्रोल: चुनाव से ठीक पहले तेज हुई टिकट बंटवारे को लेकर मनाने की कोशिशें | Patrika News

डैमेज कंट्रोल: चुनाव से ठीक पहले तेज हुई टिकट बंटवारे को लेकर मनाने की कोशिशें

- राजनीतिक दलों के मुख्यालय से लेकर जिलों तक नेताओं की तैनाती

- नाराज नेताओं के प्रदर्शन जारी, भाजपा-कांग्रेस में समझाइश का दौर

- विरोध का बवंडर, सबको साधना चुनौती

भोपाल

Updated: June 21, 2022 06:55:18 pm

भोपाल। शहरी सरकार के लिए पार्षद पद के टिकटों को लेकर प्रदेशभर में विरोध का बवंडर उठ रहा है। इसे थामने के लिए भाजपा और कांग्रेस में मशक्कत शुरू हो गई है। डैमेज कंट्रोल के लिए दोनों पार्टियों ने मुख्यालय से लेकर जिलों तक नेताओं की तैनाती की है।

tension_in_mp_political_parties.png

प्रदेश भाजपा में मुख्यालय से जिलों तक नाराजगी उभर रही है। इसे लेकर पार्टी ने राज्य स्तरीय अपील समिति बनाई है, जिसके पास शिकवे-शिकायतों का ढेर लग गया है। रविवार को भी प्रदेश भाजपा कार्यालय में जिलों से आए नाराज नेता-कार्यकर्ता अपनी शिकायतें बयां करते रहे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा से पिछले तीन दिन में कई नाराज नेताओं ने मुलाकात की है। रविवार को वीडी से कटनी में भी असंतुष्ट नेता मिले।

इधर, कांग्रेस में असंतोष को थामने के लिए प्रभारियों को जिम्मेदारी दी गई है कि वे इनसे संपर्क कर समझाइश दें। क्षेत्र के विधायक और जिलाध्यक्षों को भी सक्रिय किया गया है।

कांग्रेस: कार्यालय का घेराव :- कमलनाथ ने खुद संभाला मोर्चा
रविवार को युवा कांग्रेसियों ने पीसीसी पहुंचकर धरना दिया। इनका आरोप था कि भोपाल में किसी भी युवा कांग्रेसी को टिकट नहीं दिया। टिकट कटने से भी कांग्रेसियों में नाराजगी है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने स्वयं मोर्चा संभाला है।

मैदान में कई बागी: कांग्रेस में टिकट न मिलने से कई बागी मैदान में आ गए। इन्होंने नामांकन जमा करा दिया है। अब कांग्रेस की चिंता यह है कि यदि इन्होंने पर्चा वापस नहीं लिया तो इसका नुकसान पार्टी को होगा। ऐसे में प्रयास हो रहा है कि ये नाम वापस ले लें।

भोपाल: भाजपा में जमघट :- इसलिए बिगड़े हालात
प्रदेश भाजपा कार्यालय में संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के पास असतुंष्ट नेता पहुंचे हैं। दरअसल, पार्षद स्तर पर टिकटों को लेकर असंतोष है। इस बार पार्टी ने पीढ़ी परिवर्तन की थीम के चलते बड़े पैमाने पर नए चेहरों को मौका दिया है। इस कारण पुराने नेताओं में ज्यादा असंतोष है।

अब तीन दिन संपर्क
भाजपा ने प्रदेशभर में जिला अध्यक्षों को असंतुष्ट नेताओं को मनाने के लिए कहा है। भोपाल से वरिष्ठ नेताओं को भी जिलों की ओर रवाना किया जा रहा है। हर जिले के प्रभारी को समन्वय का जिम्मा दिया गया है। अगले तीन दिन सभी जिलों में असंतुष्ट नेताओं से संपर्क का दौर चलेगा।

ग्वालियर: विरोध तेज हुआ:- अशोकनगर में यह
अशोकनगर में महिला मोर्चा की पूर्व जिलाध्यक्ष रचना नायक ने आरोप लगाया कि उनसे जिलाध्यक्ष ने दो लाख रुपए लिए थे। टिकट का वादा किया, पर नहीं मिला। अन्य कार्यकर्ता भाजपा का झंडा लेकर पहुंचे, जिन्होंने झंडों को फेंक दिया। कुछ कार्यकर्ताओं ने विरोध में कपड़े उतार दिए।

इंदौर में मुश्किल
इंदौर के 85 वार्ड में भाजपा-कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में अंसतोष है। पार्षद पद के लिए 683 नामांकन मिले हैं। इसमें से 520 आवेदन दोनों दलों के के हैं। शेष 163 उम्मीदवार निर्दलीय, आप, बसपा सहित अन्य दलों से हैं। अब दोनों दलों को नाम वापसी के लिए अपने बागी उम्मीदवारों को मनाना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.