scriptDamage to crops due to hailstorm in Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश में ओलावृष्टि बनी आफत, 22 जिलों में 600 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान | Patrika News

मध्यप्रदेश में ओलावृष्टि बनी आफत, 22 जिलों में 600 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान

नुकसान का सर्वे: कृषि मंत्री कमल पटेल ने दी जानकारी

भोपाल

Published: January 19, 2022 10:22:22 pm

भोपाल. प्रदेश के 22 जिलों में ओलावृष्टि से 1.64 लाख हैक्टेयर में फसल बर्बाद हुई हैं। किसानों को 600 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि किसानों से मिली जानकारी के अनुसार पहले प्रदेश में 2 लाख 11 हजार 155 हैक्टेयर की फसलों में नुकसान की प्रारंभिक जानकारी सामने आई थी, लेकिन सर्वे में 1 लाख 64 हजार 176 हैक्टेयर फसल प्रभावित होना सामने आया है। अब प्रारंभिक सर्वे के बाद पंचनामा बन गया।
मंत्री पटेल ने बताया, ओलावृष्टि से फसलों को 25 से 33% और 33 से 50% और 50% से अधिक का नुकसान होना मिला है। किसानों को बीमा लाभ के साथ-साथ आरबीसी 6-4 के तहत भी राहत दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक किसान को उसकी पात्रता अनुसार ओलावृष्टि और पाला प्रभावित फसलों का मुआवजा दिलाया जाएगा। किसी भी अपात्र व्यक्ति को मुआवजे मिला तो संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई होगी।

Damage to crops due to hailstorm in Madhya Pradesh
​तस्वीर ​सिवनी जिले की है, जहां ओलों से फसलों को खासा नुकसान हुआ है।

ये हैं 22 जिले
राजगढ़, विदिशा, रायसेन, हरदा, बैतूल, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, डिंडौरी, छिंदवाड़ा, उज्जैन, रतलाम, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, दतिया, मुरैना, श्योपुर, भिण्ड, धार, झाबुआ जिलों में ओलावृष्टि से फसलों को खासा नुकसान हुआ है।

इन फसलों का रकबा प्रभावित
गेहूं 54969
सरसों 50875
चना 47379
मसूर 5993
मटर 3798
(प्रभावित रकबा हेक्टेयर में)

किसानों के खेतों में पहुंचे कमलनाथ
उधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने बुधवार को छिंदवाड़ा जिले के ओलावृष्टि प्रभावित किसानों के खेतों का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने सरकार द्वारा कराए सर्वे और किसानों को जमीनी स्तर पर हुए नुकसान दोनों का आकलन किया। किसानों को आश्वास्त किया कि वे भोपाल पहुंचते ही वे किसानों को मुआवजा दिलाने के लिए अपनी बात रखेंगे।

सीएम ने खुद जाकर देखा नुकसान
इससे पहले ओलावृष्टि के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने खुद सीहोर, विदिशा, दमोह और राजगढ जिलों में जाकर फसलों का नुकसान देखा था। सर्वे मेंन लापरवाही बरते वाले कई पटवारियों को निलंबित भी किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Lunar Eclipse 2022: सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण हो गया है शुरू, क्यों कहा जा रहा 'ब्लड मून', जानिए भारत से कैसे और कहां दिखेगापीएम मोदी आज बुद्ध की जन्म और निर्वाण स्थली पर माथा टेकेंगे, जानें आज पूरे दिन का कार्यक्रमयूपी के नए मंत्रियों को आज राजधानी में गुरूमंत्र देंगे पीएम मोदी, जानें कौन-कौन रहेगा मौजूदCongress Chintan Shivir 2022: उदयपुर से निकला कांग्रेस का नव संकल्प और नया नारा- भारत जोड़ोWeather Update: उत्तर भारत में और झुलसाएगी गर्मी, भीषण गर्मी और लू का अलर्ट जारीcongress chintan shivir 2022: आदिवासियों के गढ़ में आज राहुल गांधी भरेंगे हुंकार, वोट बैंक पर रहेगी नजरAAP ने किया केरल में गठबंधन का ऐलान, इस पार्टी के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावIPL 2022 Point Table: लखनऊ को हरा दूसरे स्थान पर पहुंचा राजस्थान, चौथे स्थान के लिए चार टीमों में घमासान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.