Heavy Rain: भारी बारिश के बीच बांध से छोड़ना पड़ा पानी, कई जगह बाढ़ का तांडव

Heavy Rain: भारी बारिश के बीच बांध से छोड़ना पड़ा पानी, कई जगह बाढ़ का तांडव

Manish Geete | Publish: Aug, 16 2019 05:28:58 PM (IST) | Updated: Aug, 16 2019 05:33:43 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश ( madhya pradesh ) में भारी बारिश ( heavy rain ) के बीच लगभग सभी बांध लबालब हो गए हैं। जबकि कई बांध ओवर फ्लो होने के कारण उनका पानी नदियों में छोड़ दिया गया है।

भोपाल। मध्यप्रदेश ( madhya pradesh ) में भारी बारिश ( heavy rain ) के बीच लगभग सभी बांध लबालब हो गए हैं। जबकि कई बांध ओवर फ्लो होने के कारण उनका पानी नदियों में छोड़ दिया गया है। इस कारण प्रदेश में बाढ़ की हालत और बिगड़ गई है। 32 लोगों की मौत के बाद यह सिलसिला थम नहीं रहा है।

 

जबलपुरः बरगी बांध खोलने से नर्मदा में अलर्ट
नर्मदा नदी पर स्थित बरगी बांध ओवर फ्लो होने के कारण उसके 15 गेट खोले जा चुके हैं। प्रशासन ने नर्मदा किनारे के सभी शहरों और गांवों को अलर्ट रहने को कहा है। वहीं कहा गया है कि निचली बस्तियों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने को कहा गया है।

 

gandhi sagar

तवाः 11 गेट खोलने से बढ़ा नर्मदा का पानी
इटारसी के पास स्थित तवा बांध का पानी छोड़े जाने के बाद नर्मदा का जल स्तर बढ़ गया है। इससे पहले सारनी के सतपुड़ा डैम का पानी छोड़ा गया था। शुक्रवार को ताजा जानकारी के मुताबिक तवा डैम के 11 गेट खोले गए हैं। इस कारण नर्मदा का जल स्तर और भी बढ़ गया है।

 

indira sagar dam

खंडवाः इंदिरा सागर बांध
नर्मदा नदी पर बने इंदिरा सागर डैम के चार गेट शुक्रवार को खोल दिए गए हैं। इसके बाद ओंकारेश्वर बांध के गेट भी खोलना पड़े हैं। इस कारण ओंकारेश्वर के घाट पर पानी बढ़ गया है और लोगों के नहाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, वहीं नौकाविहार भी रोक दी गई है।

 

omkareshwar dam

ओंकारेश्वरः पानी के नजदीक जाने पर प्रतिबंध
ओंकारेश्वर डैम का जल स्तर पूरा हो जाने के कारण इसका पानी भी छोड़ा जाने लगा है। जबकि आने वाले श्रद्धालुओं का पानी की तरफ जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं नौकायन व्यवस्था को भी रोक दिया गया है। नर्मदा का जल स्तर बढ़ने के कारण सभी डैम का पानी छोड़ दिया गया है, जबकि ओंकारेश्वर डैम भी भर जाने के कारण उसका पानी भी छोड़ा जाने लगा है।

 

शिवपुरीः अटल सागर बांध लबालब
इधर, शिवपुरी का अटल सागर बांध भी पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार बारिश से लबालब हो गया है। प्रशासन के मुताबिक कुछ ही घंटों में यहां के गेट भी खोले जा सकते हैं।

 

rajghat dam chanderi

प्रदेश के बांधों की स्थिति
बरगी- 422.76 (फुल लेवल)
गांधी सागर- 399.90
तवा डैम: 355.40
इंदिरा सागर 262.13
(आंकड़े मीटर में)

 

morban dam neemuch

बिजली बनाकर छोड़ा जा रहा है पानी
इंदिरा सागर, तवा और बरगी बांध का पानी लगातार छोड़ा जा रहा है। इस दौरान बिजली बनाने का काम भी चल रहा है। मंदसौर-नीमच जिले का गांधी सागर डैम, खंडवा जिले के मूंदी में स्थित इंदिरा सागर डैम, अशोकनगर चंदेरी का राजघाट बांध से भी पानी छोड़ा जा रहा है।


कई जिलों में अलर्ट
बरगी बांध, इंदिरा सागर बांध, तवा बांध और ओंकारेश्वर बांध का पानी छोड़ने के बाद नर्मदा का जल स्तर खतरे के निशान पर पहुंच गया है। इसे देखते हुए प्रशासन ने गुजरात तक नर्मदा किनारे शहरों और गांवों को अलर्ट रहने को कहा है। वहीं नर्मदा के सभी घाट पर नौका विहार और लोगों को नहाने से रोका जा रहा है।

 

 

kaliyasot dam

भोपाल के बांध भी लबालब
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का बड़ा तालाब भी लबालब होने के कारण उसके भदभदा स्थित सायफन खोल दिए गए हैं। लगातार हो रही बारिश के कारण प्रशासन इसके लेबल को मेंटेन कर रहा है। सीहोर में बारिश होने के कारण कोलांस नदी में पानी बढ़ गया है, जो भोपाल तालाब में मिल जाती है। इस कारण लगातार भदभदा के गेट खोले जा रहे हैं।
-इसके अलावा भदभदा के गेट खुलने का असर कलियासोत डैम पर भी पड़ा है। कलियासोत डैम भी लबालब हो गया है। जिस कारण कलियासोत का एक गेट खोल दिया गया है।
-भोपाल के कोलार, केरवा, हलाली डैम, हताईखेड़ा डैम का पानी अब तक नहीं छोड़ा गया है।
-भदभदा डैम के गेट अब तक पांचवी बार खोले जा चुके हैं।

 

मध्यप्रदेश में बाढ़ की ताजा स्थिति
पूरे मध्यप्रदेश में बाढ़ की स्थिति है। लगभग सभी नदियां उफान पर है। निचली बस्तियों में से लोगों को निकालने के लिए हेलिकाप्टर से रेस्क्यू करके लोगों को निकालना पड़ा है। रतलाम, नीमच, मंदसौर, टीकमगढ़, सागर, इटारसी, शाजापुर में बाढ़ के हालात हैं। ओरछा में तीन चरवाहों और टीकमगढ़ में तीन लोगों को हेलिकाप्टर के जरिए रेस्क्यू करके निकाला गया।
-राजगढ़ में नाला उफान पर आने के कारण दो युवक पानी में बह गए। एक का शव मिल गया है, जबकि दूसरा अब तक लापता है।
-बारिश में भोपाल से जबलपुर मार्ग बंद है और विदिशा-रायसेन राष्ट्रीय राजमार्ग भी तीन दिनों से बंद है।
-श्योपुर से सवाई माधोपुर जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग दांतरदा गांव की पुलिया पर चंबल नदी के बाढ़ का पानी घुसने से बंद हो गया है।

स्कूलों की छुट्टी
भारी बारिश के चलते गुना, अशोकनगर और राजगढ़ में स्कूलों में छुट्टी दे दी गई है। भोपाल में भी शुक्रवार को सुबह से बारिश का दौर रुक-रुक कर जारी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned