मां की अंतिम इच्छा पूरी करने बेटी ने किया अनूठा काम, बनी मिसाल

वेंटीलेटर पर मौत से जूझ रही मां की अंतिम इच्छाा पूरी करने के लिए एक बेटी ने अनूठा काम किया। इसके बाद हर कोई बेटी की तारीफ कर रहा है।

By: praveen shrivastava

Published: 08 Dec 2019, 08:06 AM IST

भोपाल/ दोपहर करीब 12 बजे एमपी नगर स्थित लेकसिटी अस्पताल में माहौल अलग सा था। अस्पताल में भर्ती मरीजों के साथ कर्मचारियों के चेहरों पर इंतजार साफ दिखाई दे रहा था। इंतजार था, एक दुल्हन को जो अपनी मां की अंतिम इच्छा पूरी करने अस्पताल आ रही थी। करीब साढ़े बारह बजे जैसे ही दुल्हन अस्पताल में कदम रखा, माहौल खुशनुमा हो गया। हालांकि आईसीयू में लेटी महिला के आंखों से आंसू बहने लगे। महिला ने दुल्हन को गले लगाया और उसका माथा चूमत हुए कहा अब मैं आराम से मर सकती हूं।

यह नजारा एमपीनगर स्थित लेकसिटी हॉस्पिटल का है। यहां कैंची छोला में रहने वाली 55 वर्षीय विमला लाहरिया भर्ती है, जो लंग्स कैंसर के थर्ड स्टेज से जूझ रही हैं। विमला ने इलाज कर रहे डॉक्टर से कहा था कि उसकी आखिरी इच्छा है कि वो मरने के पहले अपनी बेटी को शादी के लाल जोड़े में देख सकें। चूंकी विमला अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी बेटी का शादी पांच दिसंबर को हुई।

अपनी बेटी की शादी में शामिल ना होने दुखी विमला ने डॉक्टरों से कहा था कि वह एक बार अपनी बेटी और दामाद को देखना चाहती है। महिला की अंतिम इच्छा पूरी करने के लिए डॉक्टरों ने पूरा साथ दिया और उनकी बेटी निकिता को यह बात बताई। शादी के बाद बेटी अपने पति के साथ शनिवार को लेक सिटी अस्पताल पहुंची और मां का आशीर्वाद लिया।

अस्पताल में बंटी मिठाई, मरीजों ने दिया आशिर्वाद

जब निकित अपने पति के साथ अस्पताल पहुंची तो माहौल गमगीन हो गया। विमला की आंखों में आंखू देख वहां भर्ती अन्य मरीजों की आंखों में भी आंसू आ गए। यही नहीं वहां मौजूद कई नर्स भी अपने आसुंओं पर काबू नहीं पा सकी। बिस्तर पर लेटी मां ने बेटी और दामाद को गले लगाकर आशीर्वाद दिया। बेटी और दामाद से मिलकर मां अपनी बीमारी भूल गई। वह बार-बार बेटी और दामाद आशीर्वाद देकर प्यार करती रही।

praveen shrivastava Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned