नीलामी में पहुंची गीली प्याज, व्यापारियों ने खड़े किए हाथ

नीलामी में पहुंची गीली प्याज, व्यापारियों ने खड़े किए हाथ
bhopal

प्याज नीलामी का पहला दिन : 220 रुपए क्विंटल लगी अधिकतम बोली...

भोपाल. समर्थन मूल्य पर खरीदे गए प्याज की नीलामी के पहले दिन प्रशासन के अधिकारियों और व्यापारियों के बीच लंबी चर्चा चली। शाम तक व्यापारी शेडों में रखी सूखी प्याज ही खरीदने को तैयार हुए। नीचे पड़ी गीली प्याज खरीदने से इनकार कर दिया। पहले दिन नीलामी में 50 हजार क्विंटल प्याज के सौदे हो गए। भोपाल मंडी में समर्थन मूल्य पर पांच जून से प्याज खरीदी जा रही है। यहां अब तक करीब डेढ़ लाख क्विंटल से अधिक प्याज की खरीदी हो चुकी है। इसमें से आधी प्याज मंडी के शेडों में रखी है, जो बरसात के कारण खराब हो रही है।  मंगलवार को व्यापारियों ने सिर्फ शेडों में रखी सूखी प्याज खरीदने पर ही सहमति दी। जबकि, अधिकारी चाहते थे कि पहले नीचे गिरी हुई प्याज को व्यापारी खरीदें। देर शाम को शेडों में सुरक्षित रखी प्याज खरीदने पर ही व्यापारी सहमत हुए। नीलामी की अधिकतम बोली 220 रुपए क्विंटल तक रही।

हमारा काम खरीदी का
मंडी में लगभग डेढ़ लाख क्विंटल प्याज की खरीदी हो चुकी है। शेडों के नीचे रखे प्याज में बारिश का पानी लग रहा है। मार्कफेड के महाप्रबंधक उपार्जन योगेश जोशी कहते हैं कि हमारा काम प्याज खरीदी का है। परिवहन का काम मप्र सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन का है।

प्याज की जोरदार आवक
मंडी में मंगलवार दोपहर बाद ट्रालियों में प्याज की आवक शुरू हुई जो देर शाम तक चलती रही। मार्केटिंग सोसायटी के प्रबंधक जीपी शर्मा ने बताया कि जितना प्याज आ रहा है, सभी खरीदा जा रहा है। हालांकि, इसके लिए किसानों से उनकी खेती से संबंधित दस्तावेज लिए जा रहे हैं।

पटवारियों को बुलाया प्याज विक्रेता सही में किसान हैं या दूसरे के नाम से प्याज का विक्रय कर रहा है, इसका सत्यापन कराने के लिए मंगलवार को जिले के पटवारियों को प्याज खरीदी केन्द्र पर बुलवाया गया। बताया गया कि पांच जून से अब तक जिन लोगों ने समर्थन मूल्य पर प्याज बेची है, उन सबका डाटा तैयार किया जा रहा है।

व्यापारी सिर्फ सूखी, शेडों में रखी प्याज ही खरीदने को तैयार हो पाए। जो प्याज गीली हो गई है, उसे सख़ाकर नीलामी के माध्यम से बेचा जाएगा।
मुकुल गुप्ता, एसडीएम, गोविंदपुरा

व्यापारियों ने जो प्याज खरीद ली है, उसका बुधवार से परिवहन शुरू हो जाएगा। खाली होने वाले शेडों में नई आवक वाली प्याज रखी जाएगी।
विनय प्रकाश पटैरिया, मंडी सचिव

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned