अंतिम संस्कार करने से पहले जीवित हुआ छात्र, दर-दर भटकते रहे परिजन

अशोकनगर(भोपाल)। स्कूल में 200 मीटर की दौड़ में हार जाने के कारण एक स्टूडेंट की मौत हो गई।

By: Ashtha Awasthi

Published: 12 Nov 2017, 12:24 PM IST

अशोकनगर(भोपाल)। स्कूल में 200 मीटर की दौड़ में हार जाने के कारण एक स्टूडेंट की मौत हो गई। बच्चे के मां-बाप उसके जिंदा होने की आस में लगभग नौ घंटे तक इधर-उधर घूमते रहे लेकिन सारी कोशिशें नाकाम रहीं। डॉक्टरों द्वारा बच्चे को मृत घोषित किए जाने के बाद जब मां-बाप बच्चे का अंतिम संस्कार करने लगे तो एकाएक बच्चे की आंखे खुल गई। इस वाकये को देखकर मां-बाप की उम्मीद एक बार फिर से जाग उठी।

ऐसे हुआ था हादसा

शहर के ईसागढ़ के भारत माता पब्लिक स्कूल में स्पोर्टस मीट चल रही थी। इस दौरान 11वीं के बच्चों की 200 मीटर दौड़ हुई। इस दौड़ के खत्म होने के बाद स्टूडेंट आशुतोष सेन तीसरे नंबर पर आया। इसके बाद वह अचानक चक्कर खाकर गिर पड़ा। स्टूडेंट के गिरने के बाद स्कूल टीचर स्टूडेंट को स्कूटर पर बैठाकर कम्युनिटी हेल्थ सेंटर ले गए , जहां पर मौजूद डॉक्टर ने आशुतोष को पास के ही एक हॉस्पिटल में रैफर कर दिया। टीचर आशुतोष को वहां पर भी लेकर गए लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अंतिम संस्कार में खुली आंख

आशुतोष घर का इकलौता बेटा होने के कारण परिजनों ने उसका पोस्टमार्टम कराने से भी मना कर दिया। जिसके बाद अंतिम संस्कार की तैयारी की जाने लगी। इसी दौरान परिजनों ने देखा कि आशुतोष की एक आंख आधी खुली हुई। जिसके बाद परिजनों को उम्मीद जागी कि आशुतोष अभी जिंदा है। इसके बाद परिजन एक बार फिर से हॉस्पिटल ले गए जहां डॉक्टरों ने स्टूडेंट को मृत बताया। इसके बाद किसी ने मुंह में गंगाजल डाला तो पानी शरीर में अंदर चला गया।


परिजन लाश को लेकर अशोकनगर की लाइफ लाइन एक्सप्रेस और अशोक हॉस्पिटल में भी जब डॉक्टरों ने परीक्षण कर मृत बताया तब परिजन लाश को वापस ले गए। जिसके बाद मृत स्टूडेंट का अंतिम संस्कार हो सका। डॉक्टरों का मानना है कि बच्चा जब अस्पताल लाया गया तब ही वह मरा हुआ था। कई बार जिन लोगों को दौड़ने की आदत नहीं होती है उनका बॉल्व या धमनी सिकुड़ी रहती है तो सडन कार्डियक अरेस्ट हो जाता है। ऐसा रक्त का प्रवाह रुकने के कारण भी होता है। पहले भी कई बार ऐसी मौतें हो चुकी हैं।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned