निजी स्कूलों के फीस नहीं लेने पर हो सकता है फैसला

- सरकार गंभीर: कोरोना से निपटते ही संचालकों और जनप्रतिनिधियों से चर्चा सकते हैं सीएम
- स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी से 'पत्रिकाÓ की खास बातचीत

By: anil chaudhary

Published: 07 Apr 2020, 05:03 AM IST

भोपाल. कोरोना लॉकडाउन के कारण मार्च में स्कूल नहीं खुले हैं। अप्रेल में भी स्कूल नहीं खुलने की पूरी संभावना है। ऐसे में निजी स्कूल बच्चों से इन दो माह की ट्यूशन फीस न वसूले, इसे लेकर सरकार जल्द कोई बड़ा फैसला कर सकती है। कोरोना संक्रमण समाप्त होने के बाद सरकार अधिकारियों, निजी स्कूल संचालकों और जन प्रतिनिधियों से चर्चा कर इस संबंध में गाइडलाइन जारी कर सकती है। इस दौरान निजी स्कूलों को पैकेज देने सहित कुछ अन्य शुल्कों में राहत देने पर भी विचार चल रहा है। उधर, स्कूल शिक्षा विभाग ने लॉकडाउन में बच्चों की पढ़ाई का भी पूरा ध्यान रखते हुए स्कूल रेडियो चलाया है, जिसके जरिए दिन में 11 से 12 बजे तक बच्चों को पढ़ाया जाता है। स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने 'पत्रिकाÓ से चर्चा में कहा कि सरकार ने ऑनलाइन कोर्स की भी तैयारी कर ली है।

प्रश्न- लॉकडाउन के अवधि की फीस निजी स्कूल न वसूलें, इस संबंध में विभाग कोई गाइडलाइन जारी कर रहा है?
उत्तर- निजी स्कूलों द्वारा बच्चों की ट्यूशन फीस वसूली नहीं करने के संबंध में सरकार काफी गंभीर है। कोरोना से निपटने के बाद इस विषय पर बैठक कर दिशा-निर्देश जारी करेगी।

प्रश्न- फीस नहीं वसूलने वाले निजी स्कूलों को सरकार क्या कोई राहत देने पर विचार कर रही है?
उत्तर- अभी तो प्रशासन के सामने सबसे बड़ी चुनौती कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाना है।

प्रश्न- 10वीं-12वीं की परीक्षाओं के संबंध में सरकार का क्या प्लान है?
उत्तर- माध्यमिक शिक्षा मंडल ने निर्देश जारी किए हैं। स्थिति सामान्य होने के बाद कुछ मुख्य विषयों की परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

प्रश्न- कोरोना के चक्कर में शिक्षकीय कैलेंडर पिछड़ रहा है, क्या स्कूलों में होने वाले अवकाशों में कटौती की जाएगी?
उत्तर- सभी स्कूलों मेें मार्च-अप्रेल से पढ़ाई नहीं होती थी। सामान्य तौर पर पढ़ाई जून-जुलाई में ही शुरू होती थी। इससे उनके अवकाश में कोई कटौती नहीं की जाएगी।

 

प्रश्न- लॉकडाउन के दौरान बच्चों के पढ़ाई की कोई व्यवस्था की है?
उत्तर- बच्चों को स्कूल रेडियो के माध्यम से पढ़ाया जा रहा है। उनके लिए कुछ लैक्चर और टीचिंग वीडियो भी तैयार किए जा रहे हैं। स्कूल शिक्षा विभाग के पोर्टल पर लिंक दिए जाएंगे, जिसे खोलकर विद्यार्थी पढ़ाई कर सकेंगे।

प्रश्न- स्कूलें बंद हैं, इसमें शिक्षकों की क्या भूमिका है?
उत्तर- शिक्षक तथा गैर शिक्षकीय स्टाफ कोरोना अभियान में ड्यूटी कर रहे हैं। कलेक्टर अपने स्तर पर शिक्षकों से काम ले रहे हैं।

प्रश्न- अवकाश में बच्चों के मध्यान्ह भोजन की क्या व्यवस्था है?
उत्तर- सरकार ने सभी बच्चों के अभिभावकों के खाते में मध्यान्ह भोजन की राशि ट्रांसफर कर दी है।

Corona virus Kamal Nath
anil chaudhary Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned