सिंधिया को मिला कांग्रेस प्रभारी का साथ, कहा- उनकी जगह मैं होता तो मैं भी सड़कों पर उतरता

ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ के बीच तल्खियों की खबरें आ रही हैं।

भोपाल. मध्यप्रदेश कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। कांग्रेस के सीनियर लीडर अपनी ही सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने की बात कह चुके हैं। सिंधिया के इस बयान पर कांग्रेस दो खेमों में बटी हुई नजर आ रही है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में अब मध्यप्रदेश के प्रभारी दीपक बावरिया भी आ गए हैं।

क्या कहा दीपक बावरिया ने?
कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने के बयान का समर्थन किया है। बावरिया ने बुधवार को कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की जगह मैं होता तो भी प्रदर्शन कर रहे लोगों से यही कहता जा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है।

वचन पत्र कोई जुमला नहीं
दीपक बावरिया ने कहा- कांग्रेस का वचन पत्र कोई जुमला नहीं इसलिए जो कुछ वचन पत्र में है वो पूरा होना चाहिए। अतिथि विद्वानों के विषय में बड़े फंड की आवश्कता होगी, इसको भी देखना पड़ेगा। दीपक बावरिया ने कहा- कांग्रेस में समन्वय की कमी को दूर करने के लिए समन्वय समिति की बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले किए गए हैं। इसका रोडमैप भी बनाया गया है, जिस पर हम अमल करने जा रहे हैं। जिला विधानसभा और ब्लॉक स्तर पर कमेटी बनाई जा रही है। ये निगम मंडल के दावेदारों के नाम प्रदेशस्तर पर भेजेंगी और उसी आधार पर नियुक्तियां की जाएंगी।

क्या कहा था ज्योतिरादित्य सिंधिया ने?
पिछले दिनों मध्यप्रदेश दौरे पर आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अतिथि शिक्षकों के समर्थन में कहा था कि वचन पत्र में आपकी नियुक्ति की बात थी। थोड़ा धैर्य रखें, अगर आपकी मांगे पूरी नहीं होती है तो फिर हम भी आपके साथ सड़क पर उतरेंगे। सिंधिया के इस बयान के बाद मध्यप्रदेश में कई तरह की अटकलें लगने लगीं। ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने इस बयान पर अड़े हुए हैं कि अगर वचन पत्र पूरा नहीं हुआ तो वो सड़कों पर उतरेंगे।

Jyotiraditya Scindia Kamal Nath
Pawan Tiwari Producer
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned