महाशिवरात्रि की तैयारी में एक माह पहले से जुटे श्रद्धालु

हर तरफ सुनाई देगी भोले नाथ की गूंज, बम भोले की भक्ति में लीन रहेंगे श्रद्धालु

गुफा मंदिर में उमड़ेगी श्रद्वालुओं की भीड़, संत नगर में भी होंगे विशेष आयोजन

भोपाल. शिवभक्तों का सबसे बड़ा त्योहार महाशिवरात्रि माना जाता है। इस त्योहार का श्रद्वालु पूरे साल इंतजार करते हैं। महाशिवरात्रि के दिन सुबह से ही शिव मंदिरों में श्रद्धालु पहुंचने लगते हैं। राजधानी सहित आसपास स्थित शिवालयों में महाशिवरात्रि का पर्व उत्साह पूर्वक मनाया जाएगा। लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में हर साल महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। यहां भगवान का विशेष श्रृंगार किया जाता है और मंदिर को फूल मालाओं से सजाया जाता है। श्रद्वालुओं की भारी भीड़ रहती है। मेले का आयोजन किया जाता है।

शिवमयी हो जाता है संत नगर का शिव मंदिर
संत नगर के मुख्य चौराहे पर स्थित यहां के प्रसिद्ध शिव मंदिर में महाशिवरात्रि के दिन लाइटिंग की जाती है। यह शिव मंदिर स्थानीय लोगों के साथ ही दूर दराज क्षेत्रों से आने वाले लोगों की धार्मिक आस्था का केन्द्र है। मंदिर में वर्ष भर देश सहित विदेशी पर्यटकों और तीर्थ यात्रियों का आना-जाना लगा रहता है। शिव मंदिर संत नगर सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्र का प्रसिद्ध मंदिर है। अल सुबह से देर रात तक भोलेनाथ का दर्शन पाने श्रद्धालु पहुंचते हैं।

होती है सर्प दोष निवारण पूजा
महाशिवरात्रि पर्व पर संत नगर में जगह-जगह धार्मिक आयोजन के साथ भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। मंदिर समितियों एक माह पहले से तैयारियां शुरू कर दी जाती हैं। कई स्थानों पर भांग की प्रसादी का वितरण किया जाता है। नुक्कड़ वाली माता मंदिर में भव्य आयोजन कर उज्जैन महाकाल की तरह सर्पदोष और पितृदोष निवारण किया जाता है। वहीं शिवमंडली द्वारा दो दिवसीय मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग आते हैं।

राजधानी सहित आसपास स्थित शिवालयों में महाशिवरात्रि का पर्व उत्साह पूर्वक मनाया जाएगा। लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में हर साल महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है।

Rohit verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned