scriptdiabetes patient can get freedom from injecting insulin | diabetese: अब आ गई यह आधुनिक तकनीकें जिनसे डायबिटीज मरीज पा सकते हैं बार-बार इंसुलिन के इंजेक्शन लगाने से मुक्ति | Patrika News

diabetese: अब आ गई यह आधुनिक तकनीकें जिनसे डायबिटीज मरीज पा सकते हैं बार-बार इंसुलिन के इंजेक्शन लगाने से मुक्ति

diabetese: कोरोना के कारण बढे डायबिटीज के मरीज लेकिन कुछ आधुनिक तकनीकें दे रही राहत

भोपाल

Updated: February 28, 2022 11:47:46 pm

diabetese: कोरोना काल और उसके बाद मनमाने तरीके से लिए जा रहे इम्यूनिटी बूस्टर और स्टीरॉयड डायबिटीज के मरीज बढ़ा रहे हैं। इसके कारण शरीर में हार्मोनल बैलेंस बिगड़ रहा है जिससे जो पहले से शुगर के मरीज हैं उनमें कई प्रकार की अनियमितताएं पैदा हो रही हैं और कई लोग नए डायबिटीज मरीज बन रहे हैं। क्योंकि यह सीधे पेंक्रियाज की बीटा सैल्स के काम को प्रभावित कर रहे हैं जो इंसुलिन स्रावित करती हैं। हालांकि कई आधुनिक तकनीकों ने डायबिटीज मरीजों को राहत दी है। राजधानी में भी अब इंसुलिन पंप और कंटीनुअस ग्लूकोज मॉनीटरिंग सिस्टम जैसे उपकरणों का उपयोग किया जा रहा है। इसके साथ भविष्य में आने वाली स्मार्ट इंसुलिन डायबिटीज मरीजों को बड़ी राहत देगी।
insulin_pump.jpg
राजधानी के गांधी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध हमीदिया अस्पताल की ओपीडी में हर सप्ताह 25 से 30 नए डायबिटीज मरीज पहुंच रहे हैं। पहले यह संख्या 10 से 15 होती थी। विशेषज्ञों के अनुसार कोविड काल में जिन लोगों को कोरोना हुआ और जिन्हें नहीं हुआ दोनों ही डायबिटीज के आसान शिकार बन रहे हैं। जो लोग कोरोना से पीडि़त हुए उनके पैंक्रियाज पर कोरोना वायरस ने असर डाला। इसके साथ इसके उपचार के दौरान उन्हें स्टीरॉयड दिए गए। इससे इंसुलिन का स्राव प्रभावित हुआ और उनकी ब्लड शुगर का लेवल बढ़ गया। दूसरी तरफ वे लोग हैं जो कोरोना से पीडि़त तो नहीं हुए लेकिन उससे बचने के लिए अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मनमाने तरीके से इम्यूनिटी बूस्टर दवाएं खा रहे हैं। बिना जरूरत के जब शरीर में कोई दवा जाती है तो यह उसकी प्राकृतिक क्रियाओं को बिगाड़ देती हैं। कई क्रियाओं को यह धीमा कर देती है और कुछ को तेज कर देती है। इससे भी डायबिटीज के मरीज बढ़ रहे हैं।
यह तकनीकें दिला रही राहत

इंसुलिन पंप- यह पेजर की तरह एक ऐसा उपकरण है जो शरीर में एक बार लगवाने पर यह अपने आप रोज इंसुलिन ब्लड में छोड़ता रहता है। इससे रोज इंसुलिन के इंजेक्शन लेने की जरूरत नहीं होती है। खासतौर पर टाइप-1 डायबिटीज से पीडि़त बच्चों के लिए यह बहुत अच्छा उपकरण है। इसकी कीमत ढाई से तीन लाख रूपए है। इसके साथ हर सप्ताह इसकी ट्यूब आदि बदलने के लिए भी करीब 3 हजार रूपए का खर्च करना पड़ता है। इसलिए अभी आम लोग इसे नहीं लगवा पा रहे हैं। क्योंकि विदेशों में तो यह हैल्थ इंश्योरेंस में कवर हो जाता है लेकिन हमारे यहां यह इंश्योरेंस में भी शामिल नहीं है।
सीजीएमएस- कंटीनुअस ग्लूकोज मॉनीटरिंग सिस्टम एक ऐसा उपकरण है जिससे सेंसर के माध्यम से शरीर में पल-पल के शुगर लेवल का आकलन किया जाता है। इसमें हर पांच सेकंड में ग्लूकोज लेवल दर्ज होता है उसकी का प्रति घंटा और प्रतिदिन शुगर का औसत यह उपकरण रिकॉर्ड कर बताता है। इसकी कीमत 5 से 10 हजार रूपए है।
हफ्ते में एक बार इंसुलिन- डॉक्टरों के अनुसार अब ऐसा इंसुलिन भी आ गया है जिसे सप्ताह में केवल एक ही बार लेना पड़ता है, रोज-रोज इंजेक्शन नहीं लगाना पड़ता है। लेकिन यह कुछ विशेष केस में ही दिया जाता है। हर मरीज को यह नहीं दिया जाता है।
जल्द आ रहा है स्मार्ट इंसुलिन

एंडोक्राइन विशेषज्ञों के अनुसार जल्द ही स्मार्ट इंसुलिन आने वाला है। इस पर अभी शोध, प्रयोग और टेस्ट चल रहे हैं। इसकी खास बात यह है कि यह ब्लड सर्कुलेशन में पहुंचने के बाद जब जैसी जरूरत होती उतना ही इंसुलिन रिलीज करेगा। इसमें इंसुलिन के नैनो पार्टिकल रहेंगे जिनमें शुगर लेवल का आकलन करने की भी क्षमता रहेगी। इससे शुगर लेवल के अनुसार ही इंसुलिन रिलीज किया जाएगा। यह बायोटेक्नोलोजी का बड़ा काम है।
----------

क्या कहते हैं विशेषज्ञ


गांधी मेडिकल कॉलेज के एंडोक्राइनोलोजिस्ट और डायबिटीज विशेषज्ञ डॉ मनुज शर्मा के अनुसार कोरोना संक्रमण के दौर में स्टीरॉयड और वायरस के असर के कारण डायबिटीज के मरीज बढ़े हैं। इंसुलिन पंप से बार—बार इंसुलिन के इंजेक्शन लगाने से मुक्ति मिल सकती है। डायबिटीज पर नियंत्रण के लिए स्मार्ट इंसुलिन पर रिसर्च जारी है। इसके आने के बाद मरीजों को काफी राहत मिल सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

ममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआरUP Budget 2022 : देश में पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट और पांच एटीएस वाला यूपी पहला राज्य, होंगी ये बड़ी सुविधाएंराष्ट्रीय खेल घोटाला: CBI ने झारखंड के पूर्व खेल मंत्री के आवास पर मारा छापाIRCTC 21 जून से शुरू करेगी श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन, जानिए इस यात्रा से जुड़ी सभी जानकारीIPL में MS Dhoni, Rohit Sharma, Virat Kohli हुए 150 करोड़ के पार, कमाई जानकर आप हो जाएंगे हैरानइधर भी महंगाई: परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.