दोस्त का जन्मदिन मनाकर लौट रहे युवक की कार के नीचे दबने से मौत, दो की हालत गंभीर

दोस्त का जन्मदिन मनाकर लौट रहे युवक की कार के नीचे दबने से मौत, दो की हालत गंभीर

Bhalendra Malhotra | Publish: Nov, 11 2018 05:04:04 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

तेज रफ्तार कार के अचानक लगा दिए ब्रेक, दो बार पलटी खाकर नाली में गिरी

भोपाल. दोस्त की जन्मदिन पार्टी मनाकर लौट रहे युवक की कार के नीचे दबने से दर्दनाक मौत हो गई, जबकि हादसे में दो छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए। गनीमत रही कि कार के पीछे आ रहे बाइक सवार अन्य दोस्तों ने समय रहते एसटीएफ के जवानों की मदद से दो दोस्तों को कार से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचा दिया। हादसे का कारण तेज रफ्तार कार में अचानक ब्रेक लगाना बताया गया है। अचानक ब्रेक लगाने से कार दो बार पलटी खाकर सड़क किनारे नाली में जा गिरी। यह घटना शुक्रवार देर रात कमला नगर थाना क्षेत्र की है।

एएसआई रामकुमार उईके ने बताया कि दीपक उर्फ सुमित(22) पिता बच्चू बाथम आईएचएम हरियाणा से पासआउट था और दो दिन बाद उसे लखनऊ में ज्वाइनिंग देनी थी। वह नेहरू नगर स्थित गौतम नगर में रहता था। शुक्रवार रात दीपक दोस्तों के साथ शुभम मिश्रा का जन्मदिन बनाने नीलबड़ स्थित एक ढाबे पर गया था।

रात करीब एक बजे सभी दोस्त वापस घर लौट रहे थे। दो गु्रप कार में और एक ग्रुप बाइक पर था, जबकि दीपक के साथ कार में अंकित और हिमांशु सवार थे। कार को दीपक चला रहा था। एक कार शिवम सिंह ठाकुर की है, जो दूसरी कार में शुभम के साथ सवार था। अंकित दीपक के साथ कार में इसलिए सवार हो गया कि उसकी बाइक दोस्त आदर्श यादव के घर खड़ी हुई थी। अंकित जाते समय आदर्श यादव के साथ गया था, लौटते वक्त दीपक के साथ कार में आ रहा था।

आदर्श के पिता एएसआई और अंकित के पिता हवलदार


अंकित 23 वटालियन में रहता है। उसके पिता एसएएफ में हवलदार हैं। अंकित को 23वीं वटालियन के सामने गेट पर छोडऩा था। बटालियन का गेट निकलने पर अंकित ने दीपक को कार रोकने के लिए कहा, जैसे ही दीपक ने ब्रेक लगाए कार अनियंत्रित होकर दो बार पलटी खाकर सड़क किनारे नाली में जा गिरी। कार पलटने पर कार में सवार दीपक, अंकित और हिमांशु तीनों दब गए। पीछे की सीट पर बैठे अंकित ने किसी तरह फोन लगाकर दोस्त आदर्श यादव को बताया कि कार पलट गई है, तीनों कार के नीचे दबे हुए हैं।

 

गनीमत रही कि आदर्श उनके पीछे बाइक से अन्य दोस्तों के साथ आ रहा था। आदर्श के पिता शिव कुमार यादव इंदौर में एएसआई हैं। आदर्श ने दोस्त और बटालियन के सामने लगी एसटीएफ जवान और स्थानीय लोगों की मदद से तीनों को कार से बाहर निकाला और एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डाक्टरों ने दीपक को मृत घोषित कर दिया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned