कोरोना और मौसमी सर्दी-जुकाम के बीच ये हैं खास अंतर, ऐसे करें पहचान

लोगों में सबसे ज्यादा कंफ्यूजन कोरोना वायरस ( Coronavirus ) और सामान्य खांसी जुकाम या सीजनल फ्लू में बहुत अंतर होता है।

कोरोना का भायनक खौफ भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में फैला हुआ है। भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब तक 600 पहुंच चुकी है और मध्य प्रदेश में मरीजों का आंकड़ा 20 के आसपास पहुंच चुका है। जिसमें से दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। ऐसे में लोगों को सतर्कता बरतना बहुत जरुरी हो गया है।

 

अब तो कोरोना वायरस का कहर इतना बढ़ गया है कि अगर किसी व्यक्ति को सर्दी जुखाम हो रहा है तो उसे भी संदिग्ध नजरों से देखा जा रहा है। वहीं अगर किसी को मौसमी बुखार है तो उसके मन में डर सा बन गया है की कहीं उसे कोरोना तो नहीं, लेकिन हम आपको बता दें की कोरोना और मौसमी बुखार में अंतर होता है। तो आइए जानते हैं कैसे पहचाने मौसमी बुखार और कोरोना से आने वाले बुखार में अंतर...

 

दरअसल, लोगों में सबसे ज्यादा कंफ्यूजन कोरोना वायरस ( coronavirus ) और सामान्य खांसी जुकाम या सीजनल फ्लू में बहुत अंतर होता है। ऐसे में हम आपको बताते हैं कि हर छींक का मतलब कोरोना वायरस नहीं। जिसकी पहचान कुछ इस तरह से की जा सकती है...

 

यह भी पढ़ें- कोरोना को लेकर एक्पर्ट्स का बड़ा खुलासा, इन चीजों से नहीं फैलता वायरस, बचाव के लिये जरुरी ये तरीके

सामान्य सर्दी के लक्षण-

- बहती नाक, छींक, गले में दर्द।

- शरीर या मांसपेशियों में दर्द, सामान्य बुखार, सिरदर्द और थकान

- ये लक्षण 2 से 3 दिन तक दिखते हैं।

- सामान्य दवाओं या घरेलू उपचार से आप कुछ दिन में ठीक हो जाएंगे।

 

मौसमी बुखार के लक्षण

- मौसमी बुखार अचानक हो जाता है, अक्सर बदलते मौसम में लापरवाही बरतने से होता है।

- सूखी खांसी, बुखार, मांसपेशियों में दर्द,सिरदर्द, गले में दर्द, थकान, नाक से पानी बहना।

- दस्त, उल्टी लक्षण 2 से 4 दिन तक दिखते हैं।

- एक फीसदी केस (निमोनिया वाले) अगर आप प्रॉपर ट्रीटमेंट लेते हैं तो आप 1 हफ्ते में सही हो जाएंगे।

 

कोरोनावायरस के लक्षण

- बुखार, मांसपेशियों में दर्द, सूखी खांसी, थकान अन्य लक्षण: सिरदर्द, खून वाली खांसी और दस्त

- संक्रमण के लक्षण सामान्यत: 1-14 दिन तक, कुछ मामलों में 24 दिन भी दिखते हैं।

- कोरोना से पीड़ित मामलों में 5 फीसदी मामले ऐसे हैं जो बेहद जटिल थे।

- कोरोनावायरस जब बढ़ने लगता है तो निमोनिया, मल्टीपल आर्गन फेल्योर, सांस लेने में परेशानी जैसे मामले सामने आते हैं।

कोरोनावायरस की जांच कब करवाएं

लेकिन अगर आपको कोरोना वायरस के लक्षण लग रहे हैं तो आप तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। लेकिन जांच तब ही करवाएं जब आप किसी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हों या फिर आपको आसपास कोई विदेश से कोरोना प्रभावित व्यक्ति लौटा हो तब ही जांच कराएं।

coronavirus Coronavirus Outbreak What is Coronavirus?

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned