हड़ताल पर बैठे फिजियोथेरेपिस्ट से मिले दिग्विजय, बोले - मांगे पूरी नहीं हुई तो मैं भी धरने पर बैठूंगा

भूख हड़ताल से दो की हालत बिगड़ी

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Updated: 07 Jul 2019, 02:26 PM IST

भोपाल. अलग काउंसिल बनाने की मांग को लेकर शुक्रवार से भूख हड़ताल पर बैठे फिजियोथेरेपिस्ट ( physiotherapist ) की हालत बिगडऩे लगी है। रविवार को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ( Digvijay Singh ) शाहजहानी पार्क पहुंचकर भूख हड़ताल कर रहे फिजियोथेरेपिस्ट से मुलाकात की।

इस दौरान कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को पीने के लिए पानी दिया और उनके मांगों पर चर्चा की। दिग्विजय सिंह ने लिखित आश्वासन दिया 1 अगस्त तक मांगे पूरी नहीं हुई तो मैं भी शाहजानी पार्क में धरने पर बैठूंगा।

हड़ताल पर बैठे फिजियोथेरेपिस्ट से मिले दिग्विजय

दरअसल, बीते शनिवार को करीब 32 घंटे से भूखे रहने और पानी से गीले होने के चलते दो फिजियोथेरेपिस्ट की हालत बिगड़ गई। जिसके अगले दिन कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह फिजियोथेरेपिस्ट मुलाकात करने पहुंचे।

संगठन का कहना है कि उनकी सिर्फ एक ही मांग है इसके बावजूद प्रशासन हम पर ध्यान नहीं दे रहा है। संगठन की तपस्या तोमर ने बताया कि हम फि जियोथेरेपी की स्वतंत्र काउंसिल बनाने की लंबे समय से मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है।

मालूम हो कि भौतिक चिकित्सक कल्याण संघ के बैनर तले चार सदस्य सुमित राणा, तपस्या तोमर, भावना कुमार, आशवेन्द्र प्रताप सिंह भूख हड़ताल पर बैठ गए थे। इनमें से भावना कुमार की हालत शनिवार को ज्यादा बिगड़ गई।

इन मांगों को लेकर प्रदर्शन में उतरे फिजियोथेरेपिस्ट

प्रदर्शन कर रहे फिजियोथेरेपिस्ट ने बताया कि भूख हड़ताल प्रदर्शन आज से तीन दिन तक चलेगा। समय रहते सरकार द्वारा मांगें मांगे पूरी न होने पर विधानसभा का घेराव करेंगे। फिजियोथेरेपिस्ट की मांग है कि हेल्थ केयर प्रोफेशनल काउंसिल से भौतिक चिकित्सकों की अलग काउंसिल बनाई जाए।

साथ ही फिजियो थेरेपी को सिस्टम ऑफ मेडिसिन का दर्जा दिया जाए। फिजियोथेरेपिस्ट ऐसे कई मांगों को लेकर राजधानी भोपाल के नीलम पार्क में प्रदर्शन कर रहे। हालांकि कुछ फिजियोथेरेपिस्ट का कहना था कि इसके पहले अपनी मांगों की लड़ाई लड़ चुके है लेकिन सरकार से सिर्फ आश्वसन ही मिला था।

KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned