देश के गृह मंत्री और वित्त मंत्री को दिग्विजय सिंह का पत्र, बोली यह बड़ी बात

देश के गृह मंत्री और वित्त मंत्री को दिग्विजय सिंह का पत्र, बोली यह बड़ी बात

Manish Geete | Updated: 06 Jul 2019, 12:52:05 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

दिग्विजय सिंह ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है। जानिए दोनों पत्रों में क्या मांग कर रहे हैं...।

भोपाल। कांग्रेस नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ( Digvijay Singh ) ने आम बजट ( general budget 2019 ) के बाद वित्त मंत्री ( finance minister of india ) निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) को अनुरोध करते हुए एक पत्र लिखा है। दिग्विजय सिंह ने इस पत्र में कोचिंग संस्थानों को माल एवं वस्तु कर (GST) के दायरे से बाहर लाना चाहिए।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने वित्त मंत्री को लिखे पत्र में अनुरोध किया है कि ऐसा करना बेरोजगार युवाओं के हित में एक बड़ा कदम होगा। दिग्विजय सिंह ने कहा कि बड़ी संख्या में बोरोजगार युवा केंद्रीय और राज्य लोकसभा आयोग की परीक्षाओं के लिए कोचिंग करते हैं। पहले इन कोचिंग संस्थानों पर पांच प्रतिशत जीएसटी था, जो अब बढ़कर 18 फीसदी कर दिया गया। ऐसे में बच्चों के लिए कोचिंग संस्थानों और महंगे हो गए हैं।

 

दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि बढ़ती हुई बेरोजगारी के चलते इन कोचिंग संस्थानों को GST के दायरे से बाहर लाना चाहिए। इसके साथ ही केंद्र सरकार को भारत सरकार की ओर से आयोजित होने वाली सभी परीक्षाओं में भाग लेने के लिए छात्रों से शुल्क न लेने का आग्रह भी किया।

 

 

gst

गृहमंत्री अमित शाह को भी लिखा पत्र
दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी एक पत्र लिखकर सोशल मीडिया नफरत और हिंसा फैला रहा है, इसलिए इस पर नकेल कसने की जरूरत है। दिग्विजय ने पत्र के माध्यम से फिर RSS पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि कश्मीरियों को राष्ट्र विरोधी बोलने वालों को RSS से जुड़ा इंद्रप्रस्थ विश्व संवाद केंद्र सम्मानित करता है।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अमित शाह से सोशल मीडिया साइट्स के लिए कड़े कानून बनाने की भी मांग की है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अमित शाह को लिखा है कि सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ाने वालों के लिए कड़ी सजा वाले कानून की भी जरूरत है।

 

ट्रोल करने वालों पर हो कार्रवाई
दिग्विजय सिंह राज्यसभा सत्र में भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर झूठी खबरें फैलाने और ट्रोल करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर चुके हैं। दिग्विजय सिंह कहते हैं कि कई बार ससोशल मीडिया पर प्रसारित फेंक न्यूज ही सांप्रदायिक हिंसा का का बड़ा कारण बन जाती है। फेंक न्यूज को ट्वीटर पर जहरीली भाषा का इस्तेमाल करते हैं, ऐसे लोगों पर कार्रवाई होना चाहिए।

 

 

amit shah
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned