scriptMP Politics : MP के ये नेता रहे राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु, जानें क्यों बढ़ गई दूरियां | digvijaya singh was political guru of Rahul Gandhi, know why the distance increased | Patrika News
भोपाल

MP Politics : MP के ये नेता रहे राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु, जानें क्यों बढ़ गई दूरियां

Digvijaya Singh Political coach of Rahul Gandhi : कहते हैं न सियासत है खेल भी बड़ा निराला है। यह लाइन एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के लिए फिट बैठती है। कभी राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु से उनकी दूरियां क्यों बढ़ गई?

भोपालJun 08, 2024 / 06:45 pm

Himanshu Singh

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) हमेशा से गांधी परिवार के नजदीक रहे हैं। जानकार तो यह भी बताते हैं ये राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के राजनीतिक गुरु भी रह चुके हैं। बतौर सीएम रहते इन्होंने गांधी परिवार की सबसे ज्यादा मदद की, लेकिन कहते हैं ना समय का फेर बदलते समय नहीं लगता। अब उन्हीं दिग्विजय सिंह की दूरियां गांधी परिवार से क्यों बढ़ गई।

चुनाव जीतने पर संगठन में बढ़ता कद


पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) को ऊपर से स्पष्ट संदेश दिया गया था कि अगर चुनाव जीतेंगे तो संगठन में कद बढ़ेगा, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। दिग्विजय सिंह ने तो यह तक कह दिया है कि अब वह कोई चुनाव नहीं लडेंगे। अभी मौजूदा में उनके पास 2026 तक राज्यसभा का कार्यकाल बचा हुआ है।


बीजेपी ने सनातन विरोधी का बनाया मुद्दा


अपनी सनातन विरोधी छवि से दिग्विजय सिंह इस बार भी मुक्ति नहीं पा पाए। उन्होंने विधानसभा चुनाव 2018 के दौरान पैदल नर्मदा परिक्रमा यात्रा निकाली थी। उस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सफलता हाथ लगी थी। इस दौरान इसका त्रेय दिग्विजय सिंह को भी दिया गया था। क्यों कि उन्होंने पर्दे के पीछे से कांग्रेस की वापसी की किताब लिखी थी। इस बार 2023 के विधानसभा चुनाव में दिग्विजय सिंह फ्रंट-फुट पर ही बैटिंग कर रहे थे, लेकिन शिवराज सिंह की गुगली पर पूरी कांग्रेस ही बैकफुट पर आ गई। शिवराज ने लाड़ली बहना योजना का शुभारंभ करके पूरी कांग्रेस को ही समेट दिया। इसका असर दिग्विजय सिंह गढ़ राघोगढ़ में भी पड़ा। उनके बेटे जयवर्धन सिंह महज तीन-चार वोटों से ही विधानसभा चुनाव जीते। विधानसभा चुनाव के दौरान दिग्विजय सिंह की मेहनत देखकर कांग्रेस के पक्ष में माहौल बना लेकिन बिगड़ते देर नहीं लगी। कभी दिग्विजय कार्यकर्ता सम्मेलन में पीछे वाली सीट पर बैठ जाते तो कभी पुराने कार्यकर्ताओं का नाम लेकर उनके अंदर जोश भरने का काम करते।

Hindi News/ Bhopal / MP Politics : MP के ये नेता रहे राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु, जानें क्यों बढ़ गई दूरियां

ट्रेंडिंग वीडियो