दमोह में हार के बाद भाजपा में अंतर्कलह

उमा भारती, प्रहलाद पटेल, भूपेंद्र सिंह ने हार पर जताई नाराजगी, नेताओं के निशाने पर मलैया परिवार, राहुल लोधी भी लगा चुके हराने के आरोप। दमोह में हार की समीक्षा करेगी भाजपा

By: Hitendra Sharma

Published: 04 May 2021, 02:11 PM IST

भोपाल. दमोह विधानसभा चुनाव हारने के बाद भाजपा में अंतर्कलह सतह पर है। केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल लिखा कि दमोह के नतीजों ने भविष्य की चुनौतियों, षडयंत्र और कार्यप्रणाली में सुधार के संकेत दिए हैं। सिर्फ प्रहलाद ही नहीं भाजपा की ओर से प्रत्याशी रहे राहुल लोधी को भाजपा परिवार में लाने की राह बनाने वाले दूसरे राजनेताओं में भी नाराजगी है। वहीं मलैया ने फिलहाल हार की समीक्षा करना तय किया है। लेकिन इतना तय है कि दमोह चुनाव के नतीजे आगे चलकर पार्टी स्तर पर बड़ा असर डालेंगे।

must see: दमोह की जनता ने दल-बदल को नकारा

कौन-कौन नाराज
राहुल को प्रहलाद पटेल के अलावा पूर्व सीएम उमा भारती का भी करीबी माना जाता है। उमा भारती ने ही राहुल के भाजपा में आने की राह प्रशस्त की थी। मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी इसमें अहम भूमिका निभाई थी। वे भी चुनाव के नतीजों से हतप्रभ हैं। चुनाव में प्रभारी मंत्री भले गोपाल भार्गव को बनाया गया था, लेकिन काम भूपेंद्र सिंह ही देख रहे थे। इन सबके बीच स्थानीय राजनीति और भितरघात के भंवर ने राहुल को हरा दिया। इससे पार्टी में प्रहलाद, उमा और भूपेंद्र सिंह सहित कई नेताओं में नाराजगी है।

पार्टी ने जनता की नब्ज समझने में भूल की
राहुल लोधी ने हार के बाद पूर्व जयंत मलैया और उनके परिवार पर भितरघात के आरोप लगाए हैं। जवाब में मलैया ने कहा, जहां सीएम व प्रदेश अध्यक्ष ने सभाएं की, वहां भी भाजपा को हार मिली। प्रहलाद पटेल के क्षेत्र में भी पार्टी को समर्थन नहीं मिला। जनता पहले ही मन बना चुकी थी कि किसे वोट देना है। पार्टी जनता की नब्ज समझने में भूल कर गई।

must see: उपचुनाव से कांग्रेस को उम्मीदों का डोज

निगम अध्यक्षों से जल्द इस्तीफे की चर्चा
सियासी गलियारों में राहुल लोधी सहित दो अन्य निगम अध्यक्षों से जल्द इस्तीफे लिए जाने की चर्चा है। इसके पीछे इन तीनों ही अध्यक्षों के पार्टी लाइन से बाहर जाकर बयानबाजी करना बताया जा रहा है। इसमें वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष राहुल लोधी, नगरिक आपूर्ति खाद्य निगम के अध्यक्ष प्रदुम्न लोधी और खनिज विकास निगम के अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल के नाम शामिल हैं।

must see: चुनाव के नतीजों से विजयवर्गीय के सियासी सफर पर आंच

गृहमंत्री ने कहा घर के जयचंदो से हारे
राज्य सभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा ईमानदार जीत गया। सांसद विवेक तन्खा ने कहा यह जीत शिवराज सरकार की गलत नीतियों का प्रतिकार है इस पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि दमोह नहीं हारे हम, छले गए छलाछंदों से। इस बार लड़ाई हारे हैं हम अपने घर के जयचंदों से।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned