मोबाइल पर ये मैसेज आए तो बिल्कुल न करें क्लिक, खाली हो सकता है आपका अकाउंट

फोन पर सॉफ्टवेयर अपडेट के लिए स्क्रीन शेयरिंग ऐप बिल्कुल न करें डाउनलोड, चंद मिनटों में ई-वॉलेट व बैंक खाते खाली कर देंगे....

By: Ashtha Awasthi

Published: 28 Feb 2020, 01:29 PM IST

भोपाल। अगर आपके फोन में ऐसे मैसेज आते है कि, ' डाउनलोड कीजिए फ्री एप और पाइए खाते में 500 रुपये और भी बहुत कुछ।' अगर आपके मोबाइल पर भी ऐसे मैसेज (cyber fraud) आए तो सचेत हो जाए क्योंकि ये आपके बैंक अकाउंट ( cyber crime) को पूरा खाली कर सकते हैं।

बहुत से लोग ऐसे हैं, जो लालच में आकर इन लिंक पर क्लिक करते हैं और यहीं से होती है साइबर ठगी की शुरुआत। इस तरह के लिंक के माध्यम से ही हैकर्स के पास आपके मोबाइल फोन का पूरा डाटा चला जाता है और वे आसानी से न सिर्फ आपकेफेसबुक व वाट्सएप अकाउंट को हैक कर लेते हैं, बल्कि बैंक खाते को साफ कर लेते हैं।

CYBER CRIME : व्यापारी ने पुलिस से एक कदम आगे रह कर बचाए 23.50 लाख रुपए

अगर आपके मोबाइल पर सॉफ्टवेयर अपडेट के लिए स्क्रीन शेयरिंग ऐप (एनी डेस्क, क्विक सपोर्ट, एयरड्रोइड, टीम व्यूअर) डाउनलोड करने को कहा जाता है तो बिल्कुल न करें। क्योंकि अगर आप गलती से भी इन्हें डाउनलोड कर लेते हैं तो आपका मोबाइल रिमोर्ट एक्सेस कर लिया जाएगा। आपके मोबाइल पर आने वाले ओटीपी, यूपीआई व एटीएम-क्रेडिट कार्ड पिन की जानकारी ठगों को हो जाएगी। जिसके बाद वे पलक झपकते ही आपके ई-वॉलेट व बैंक खाते खाली कर देते है।

cyber crime / पूर्व पुलिस आयुक्त शर्मा बने साइबर क्राइम का शिकार, बैंक खाते से 5 हजार पार

ध्यान रखें ये जरुरी बातें.....

- कभी भी अपने फोन में रिमोर्ट एक्सेस ऐप इंस्टॉल न करें।

- कभी किसी अन्य व्यक्ति से अपने बैंक, डेबिट, क्रेडिट कार्ड, ई-वॉलेट की जानकारी मोबाइल पर आए ओटीपी व वैरीफिकेशन कोड शेयर न करें।

- पेटीएम के केवायसी अपडेंशन के लिए फोन पर कुछ भी शेयर न करें। पेटीएम ऐप पर दिए गए नजदीक सेंटर पर संपर्क करें।

 

Cyber crime is expanding in Tamil Nadu

- अपने ऑफिस या पब्‍लिक कम्‍प्‍यूटर से कभी भी अपने बैंक अकाउंट को हैंडल मत करिए। फिर भी ऐसा करना अगर कभी आपकी मजबूरी बनती है तो ध्‍यान दीजिए कि काम खत्‍म होते ही उसके हर पेज को याद से लॉग आउट कर दें।

- अपनी क्रेडिट रिपोर्ट को कम से कम साल में एक बार जरूर चेक करा लें। ताकि आप मालूम हो सके कि कोई आपके नाम से लोन वगैरह लेकर फ्रॉड तो नहीं कर रहा।

- ऑनलाइन या शेयर ड्राइव पर अपनी इन्‍फॉर्मेशन को स्‍टोर करने से पहले जाने लें कि ये ऑटोमैटिकली डिवाइस की मैमोरी में सेव हो जाती है।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned