भूलकर भी बेडरुम की दीवारों में न कराएं ये कलर, किस्मत के लिए नहीं होता है अच्छा

वास्तु का प्रभाव सीधा आपके जीवन पर....

By: Ashtha Awasthi

Published: 10 May 2020, 04:49 PM IST

भोपाल। हर इंसान अपने घर को पूरी तरीके से वास्तु दोष से दूर रखना चाहता है, जिससे कि घर में सुख शांति बनी रहे। शहर के ज्योतिषाचार्य पंडित जगदीश शर्मा बताते है वास्तुशास्त्र एक ऐसा भारतीय शास्त्र है जो प्राचीन काल से भारत में अपनाया जा रहा है। वास्तुशास्त्र एक ऐसी विधा है जो दिशाओं के स्वभाव के अनुसार घर का नक्शा बनाने का सुझाव देती है ताकि आपके घर का हर एक कोना दिशाओं के अनुकूल बनें जिससे हर कोने में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे।

vastu_shastra1.jpg

बात अगर दांपत्य जीवन की करी जाए तो आजकल कपल हर दिन बढ़ती तकरार को लेकर तनाव में आ रहे हैं, अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही है तो कुछ आसान वास्तु टिप्स, जो आपके संबंधों में मिठास घोल देंगे। सिर्फ बेडरूम का डेकोरेशन वास्तु नियमों के मुताबिक करना भर ही आपके दांपत्य जीवन में बढ़ते जा रहे तनाव को खुशियों और प्यार में बदल देगा...

सीधा प्रभाव आपके जीवन पर

बेडरूम वह रूम होता है, जहां आप दिन भर के 7 से 10 घंटे तक बिताते हैं, यानी इसके वास्तु का सीधा-सीधा प्रभाव आपके जीवन पर पड़ता है। बेहतर होगा कि वास्तु के नियमों का ध्यान रखा जाए।

दक्षिण-पश्चिम दिशा में हो बेडरूम

बेडरूम हमेशा दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए और इसी कोने में बेड भी रखना चाहिए। यदि आपने अपना बेड कमरे के दक्षिण-पूर्व दिशा में रखा है, तो आपको ठीक से नींद नहीं आएगी, आप तनाव से घिरे रहेंगे, आपको गुस्सा जल्दी आएगा और हमेशा बेचैनी सी बनी रहेगी।

बेडरूम में न करें बहस

आपको यह याद रखना होगा कि बेडरूम आराम करने के लिए जहां आप सारे तनावों से दूर होते हैं। इसलिए इस रूम में कभी बहस न करें। वैसे भी किसी समस्या का हल बहस से नहीं निकाला जा सकता। यह सिर्फ आराम करने, सोने और लाइफ पार्टनर के साथ मस्ती करने के लिए होता है। बेडरूम में प्यार के अलावा अन्य बातें करने से बचें।

दीवारों पर न हो टूट-फूट

यदि आपके बेडरूम की बाहरी दीवारों पर टूट-फूट या दरार है, तो इन्हें जल्द से जल्द मरम्मत करवा दें। क्योंकि बेडरूम की बाहरी दीवारों पर दरारें या टूट-फूट आपके घर में परेशानियां लाते हैं।

मास्टर बेडरूम

मकान के मालिक का रूम यानी मास्टर बेडरूम... मकान के मालिक अगर उत्तर-पश्चिम दिशा में स्थित बेडरूम में सोते हैं, तो अस्थिरता बनी रहती है। लिहाजा इस दिशा में घर के मालिक का बेडरूम नहीं होना चाहिए। घर के अन्य सदस्यों का बेडरूम यहां हो सकता है।

बेड का सिरहाना

बेड का सिरहाना दक्षिण की ओर होना चाहिए। इससे बेचैनी नहीं रहती है और रात में अच्छी नींद आती है उसका स्वास्थ्य उत्तम रहता है। उत्तर की तरफ सिर करके सोने से खराब सपने आते हैं और नींद अच्छी नहीं आती और स्वास्थ्य खराब रहता है। वहीं पूर्व की ओर सिर करने से ज्ञान बढ़ता है, जबकि पश्चिम की ओर सिर करके सोने से स्वास्थ्य खराब रहता है।

ऐसी तस्वीरें लगाने से बचें

बेडरूम में कोई ऐसी तस्वीर न लगाएं, जो हिंसा दर्शा रही हो। हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि बेडरूम की दीवार का रंग चटख न कराएं। जहां तक हो हल्के रंग ही कराएं। दीवारों में कभी भी काला रंग न कराएं। साथ ही बेड के सिरहाने वाली दीवार पर घड़ी, फोटो फ्रेम आदि न लगाएं। इससे सिर में दर्द बना रहता है। अच्छा तो यही है कि बेडरूम की सामने वाली दीवार पर भी कुछ न लगाएं। लगाना भी चाहते हैं, तो प्रेम दर्शाने वाली, नेचर से जुड़ी सुकून देने वाली तस्वीरें लगा सकते हैं। इससे भी मन की शांति बनी रहती है।

Ashtha Awasthi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned