scriptDo not panic, be alert, recovery rate is much faster than corona | घबराए नहीं, अलर्ट रहें, कोरोना से काफी तेज है रिकवरी रेट, केवल इन बातों रखें ध्यान | Patrika News

घबराए नहीं, अलर्ट रहें, कोरोना से काफी तेज है रिकवरी रेट, केवल इन बातों रखें ध्यान

सावधान रहना है, अगर आप जागरूक रखेंगे, तो निश्चित ही कोरोना से आप बचे रहेंगे। इसलिए आज से ही कुछ नियमों का पालन जरूर करें।

भोपाल

Published: December 04, 2021 04:13:06 pm

भोपाल. भले ही मध्यप्रदेश में कोरोना के केस दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। आए दिन किसी न किसी शहर में कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। लेकिन घबराने की बिल्कुल जरूरत नहीं हैं। क्योंकि जिस अनुपात में कोरोना के केस सामने आ रहे हैं, उससे कई गुना अधिक रिकवरी रेट है। जो लोग संक्रमित हो रहे हैं, उनमें से आधे से अधिक जल्दी रिकवर कर घर भी लौट रहे हैं। लेकिन इसका यह कतई मतलब नहीं है कि आप लापरवाही करें, आपको कोरोना से घबराना नहीं है, बल्कि सावधान रहना है, अगर आप जागरूक रखेंगे, तो निश्चित ही कोरोना से आप बचे रहेंगे। इसलिए आज से ही कुछ नियमों का पालन जरूर करें।

corona.png


प्रदेश में रिकवरी रेट 98.65% है।
एमपी में कोरोना संक्रमण से रिकवरी की रेट काफी अधिक है, अगर किसी को कोरोना हो भी रहा है तो कुछ केसों को छोड़कर अधिकतर मरीज स्वस्थ होकर ही लौट रहे हैं, इसमें उन्हीं लोगों को अधिक समस्या हो रही है जो कोरोना संक्रमित होने के साथ ही अन्य बीमारियों से पीडि़त हैं, उनकी इम्युनिटी कमजोर होने से वे हाई रिस्क में चले जाते हैं। जिससे उन्हें तकलीफ हो सकती है। अन्यथा सरकारी द्वारा जारी की गई रिकवरी रेट से साफ पता चल रहा है कि 100 लोगों में से करीब 98 लोग तो ठीक होकर घर पहुंच ही रहे हैं।


इन बातों की रखे सावधानी
जिस प्रकार लोगों ने कोरोना की पहली और दूसरी लहर में जागरूकता का परिचय दिया, सरकार के एक आह्वान पर वे घर से बाहर नहीं निकले, सभी ने अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए मास्क, सोशल डिस्टेसिंग सहित अन्य कोविड नियमों का पालन किया, अगर उसी प्रकार अब भी कोरोना से बचने के उपाए करें, तो निश्चित ही कोरोना को हराया जा सकता है।

  • बगैर मास्क घर से बाहर नहीं निकलें।
  • जहां तक जरूरी हो सके बाहर निकलें ही नहीं।
  • जरूरी काम होने पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए बाहर निकलें।
  • अपना काम निपटा कर तुंरत घर पहुंचे।
  • भीड़ भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचें।
  • घर से बाहर केवल जरूरी चीजों की खरीदी करने ही निकलें, व्यर्थ की शॉपिंग में समय खराब न करें।
  • आजकल ऑनलाइन खरीदी भी बेहतर ऑप्शन है, आप इसका उपयोग कर भी घर से बाहर निकलने से बच सकते हैं।
  • थोड़े बहुत भी लक्षण नजर आए तो टोल फ्री नंबर पर कॉल करें या समीपस्थ चिकित्सक को दिखाएं।

एमपी में आए 24 घंटे में 15 केस
एमपी में पिछले 24 घंटे में करीब 15 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसमें से भोपाल में 8, इंदौर में 3, ग्वालियर में 2 तथा जबलपुर और शहडोल में एक एक केस सामने आए हैं। वहीं पूरे प्रदेश में करीब 134 केस एक्टिव हैं। प्रदेश में 3 दिसंबर शाम तक करीब 22038687 सैंपल लिए जा चुके हैं, जिसमें अब तक करीब 793214 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं 10528 लोगों की मौत हुई हैं।


पॉजीटिविटी दर 0.02 प्रतिशत
एमपी में कोरोना की पॉजीटिविटी दर बहुत कम है, सरकारी आंकड़ों की माने तो कोरोना संक्रमण की दर महज 0.02 प्रतिशत है। वहीं रिकवरी रेट काफी तेज हैं, जहां पिछले 24 घंटे में 15 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। वहीं करीब 9 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं। इस मान से यह साफ कहा जा सकता है, कि फिलहाल जो मरीज संक्रमित भी पाए जा रहे हैं, तो वे ज्यादा हाई रिस्की नहीं हो रहे हैं। कुछ लोगों को छोड़कर शेष सभी ठीक हो रहे हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं समझें की आप भी लापरवाही शुरू कर दें, आपको यह बात समझाने का साफ मतलब यह है कि आप जागरूक रहें, अपनी सोच पॉजिटिव रखें और कोरोना से बचाव के उपाय जारी रखें, तो निश्चित ही आप इससे बचे रहेंगे।

एमपी में सभी का बनेगा डिजिटल हेल्थ कार्ड- ऑनलाइन अपडेट रहेगा आपका स्वास्थ

104 तथा 181 पर करें कॉल, घर बैठे हों ठीक
अगर आपको कोरोना से संंबंधित किसी भी प्रकार के लक्षण नजर आ रहे हैं, तो आप घबराए नहीं, अगर आप चाहते हैं कि आपको कहीं जाना नहीं पड़े और संबंधित जानकारी मिल जाए तो आप 24 घंटे में कभी भी 104 और 181 पर कॉल कर सकते हैं। यहां आपको चिकित्सकों द्वारा उचित परामर्श दिया जाएगा, जिसके आधार पर घर बैठे भी आप ठीक हो सकते हैं, लेकिन आपको ज्यादा तकलीफ है तो फिर जांच जरूर करवाएं। प्रदेश में करीब 1594 फीवर क्लिनिक इस समय एक्टिव हैं।

आजादी के 75 साल बाद बदली व्यवस्था-प्लॉट और खेत की भू-अधिकार पुस्तिका

दो स्टूडेंट मिले कोरोना संक्रमित
मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में कोरोना से संक्रमित दो स्टूडेंट मिले हैं, यह शहर के एरोड्रम क्षेत्र में स्थित एक विद्यालय में अध्यन करते हैं, इससे पहले भी दो बच्चे कोरोना संक्रमित पाए गए थे, इस प्रकार शहर में बच्चों के संक्रमित होने के केस करीब चार हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इनके परिजन की भी कोरोना की जांच की गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.