scriptdoctor hanged - this thing was written in the suicide note | डॉक्टर ने लगाई फांसी-सुसाइड नोट में लिखा-मम्मी, मैं बैलेंस नहीं कर पा रहा था | Patrika News

डॉक्टर ने लगाई फांसी-सुसाइड नोट में लिखा-मम्मी, मैं बैलेंस नहीं कर पा रहा था

मौत की जवाबदारी मेरी और किसी की नहीं है। मैं अपनी मां को बहुत मिस कर रहा हूं।

भोपाल

Published: December 02, 2021 02:43:31 pm

भोपाल. राजधानी भोपाल में एक चिकित्सक ने अपने ही कक्ष के अंदर अनोखे तरीके से फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली, फांसी लगाने से पहले चिकित्सक ने सुसाइड नोट में अपनी मां को याद करते हुए कुछ लाइनें लिखी हैं।
डॉक्टर ने लगाई फांसी-सुसाइड नोट में लिखा-मम्मी, मैं बैलेंस नहीं कर पा रहा था
डॉक्टर ने लगाई फांसी-सुसाइड नोट में लिखा-मम्मी, मैं बैलेंस नहीं कर पा रहा था

डॉक्टर ने लिखी यह बात
फांसी लगाने से पहले चिकित्सक ने लिखा- मैं अपने जीवन को बैलेंस नहीं कर पा रहा हूं। मम्मी मुझे माफ करना, सॉरी-सॉरी। मौत की जवाबदारी मेरी और किसी की नहीं है। मैं अपनी मां को बहुत मिस कर रहा हूं।
जानकारी के भोपाल के पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल के एक डॉक्टर ने अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। हैरान करने वाली बात यह है कि उन्होंने फांसी लगाने से लगाने से पहले मुंह पर पट्टी और पैरों में भी रस्सी बांध रखी थी। इसी के साथ उन्होंने कमरे को अच्छे से लॉक कर दिया था, ताकि कोई उन्हें बचाने भी आए तो बचा नहीं पाए। उन्होंने फांसी लगाने से पहले सुसाइड नोट लिखा, लेकिन किसी को जवाबदार नहीं बताते हुए खुद सॉरी लिखा है।
आरटीई एक्ट में बड़ा बदलाव-12 साल बाद इस तरह होगी पांचवीं आठवीं की परीक्षा


मां का भी हो गया निधन
एएसआई पांडे ने बताया कि डॉक्टर की शादी 2016 में हुई थी। जिसके एक माह बाद वह उन्हें छोड़कर चली गई थी, साल 2019 में उनका तलाक भी हो गया, वहीं शादी के आठ माह बाद ही उनकी मां का निधन हो गया था, इस कारण वे काफी तनाव में रहते थे।
कोरोना से लोगों को बचाने डोर-टू-डोर पहुंचे सीएम शिवराज

पत्नी से हुआ था तलाक
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चिकित्सक संजय गुप्ता (36) का अपनी पत्नी से तलाक हो गया था। इस कारण वे अधिकतर तनाव में रहते थे, पुलिस की जांच में भी यह तथ्य सामने आया है। एएसआई वीरमणि पांडे के अनुसार मऊगंज रीवा निवासी चिकित्सक संजय पिता शिरोमणि गुप्ता एमडी करने के बाद पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक कॉलेज से आयुर्वेद चिकित्सा में रिसर्च कर रहे थे। वे भोपाल के चूना भट्टी क्षेत्र में स्थित निर्मल कल्पना सोसायटी में रहते थे। उनके साथ डॉक्टर दीपक सोनी भी रहते थे, जिन्होंने बताया कि उनकी पोस्टिंग सतपुड़ा भवन में है। बुधवार सुबह 10.30 बजे ड्यूटी पर चले गए थे, इसके बाद संजय गुप्ता रूम में अकेले थे। जब शाम को ड्यूटी करके वापस लौटे तो दरवाजा अंदर से बंद था, जब काफी देर खटखटाने के बाद भी दरवाजा नहीं खोला तो संजय गुप्ता के मोबाइल पर फोन किया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया तो खिड़की से झांकने पर वे लटके नजर आए, इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.