टेस्टिंग के नाम पर बर्बाद कर दिया सैकड़ों लीटर पानी

KRISHNAKANT SHUKLA

Publish: Apr, 17 2018 11:06:14 AM (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
टेस्टिंग के नाम पर बर्बाद कर दिया सैकड़ों लीटर पानी

पेयजल के लिए परेशान हो रहे कोलार क्षेत्र के रहवासी, केरवा प्रोजेक्ट के तहत डाली गई पाइप लाइन से सडक़ पर बह रहा पानी

भोपाल/कोलार। केरवा प्रोजेक्ट के जरिये कोलार को जलसंकट से निजात दिलाने का दावा जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों द्वारा किया गया है, पर केरवा प्रोजेक्ट से अभी भी कोलार के बड़े हिस्से में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी है। इसी बीच केरवा प्रोजेक्ट के तहत डाली गई पाइप लाइन में आए दिन हो रहे लीकेज से लोग परेशान हो रहे है।

गौरतलब है कि रविवार शाम को ललिता नगर चौराहे पर लीकेज होने से सैकड़ो लीटर पानी बर्बाद हो गया। हालाकि जब इस बारे में नगर निगम जलकार्य यंत्री आशीष मार्तण्ड से बात की गई तो उनका कहना था कि ये लीकेज नहीं बाल्कि टेस्टिंग थी। सवाल ये है कि एक तरफ कोलार की जनता बूंद बूंद पानी के लिए तरस रही है वहीं टेस्टिंग कर सैकड़ों लीटर पानी बहाया जा रहा है। रहवासियों का आरोप है कि केरवा प्रोजेक्ट के तहत पानी तो मिला नहीं, लेकिन परेशानी जरूर मिल रही है। पाइप लाइन की टेस्टिंग के दौरान आम्र बिहार कॉलेनी के गेट पर कीचड़ होने से रहवासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रहवासियों का कहना है कि अभी पूरे कोलार में पानी की सप्लाई शुरू नहीं की गई और आए दिन पाइप लाइन से पानी बहने की समस्या हो रही है।

 

रहवासी, बोले, पानी नहीं, आश्वासन मिलता है
रहवासियों का आरोप है कि क्षेत्र में दिनोदिन गहरा रहे जलसंकट से निजात दिलाने के लिए जनप्रतिनिधियों एवं नगर निगम अधिकारियों से कई बार गुहार लगाई है, पर हर बार सिर्फ आश्वासन ही मिलता है। महीने में कई बार ऐसी स्थिति बनती है कि दो से तीन दिन तक टैंकर नहीं आते हैं।

 

एक-दो दिन छोडक़र टैंकरों से मिल रहा पानी
जलसंकट से जूझ रहे कोलार के रहवासी पानी के लिए टैंकर पर निर्भर हैं। अलग-अलग क्षेत्रों में एक से दो दिन छोडक़र पानी की सप्लाई टैंकरों से की जा रही है। इसके बाद भी कोलार में पानी की आपूर्ति नाकाफी साबित हो रही है। क्योंकि यहां एक टैंकर पानी सभी परिवारों के लिए एक ही वक्त में पर्याप्त नहीं होता है।

 

इधर, नल कनेक्शन देने चार वार्डों में लगाए शिविर
कोलार. कोलार की जनता को केरवा का पानी उपलब्ध कराने नल कनेक्शन के लिए सोमवार को वार्ड 80, 81, 82 और 83 के नगर निगम वार्ड कार्यालय में शिविर लगाए गए। वार्ड-८२ के वार्ड प्रभारी अभय कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि कार्यालय में सोमवार को २४ रहवासियों द्वारा फार्म लिए गए और १२ लोगों द्वारा प्रथम किश्त जमा कराई गई। बताया जा रहा है कि सबसे ज्यादा ४० फार्म वार्ड-८१ में आए। चारों वार्र्डो में २०० फार्म बंांटे गए। वार्डों कार्यालयों में यह शिविर ३० अप्रैल तक चलता रहेगा। वार्ड-८२ के वार्ड प्रभारी अभय कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि जिस व्यक्ति पर भवन के अनुसार नल कनेक्शन की राशि १० हजार रूपए आएगी, उसे प्रथम किश्त ५ हजार रूपए और शेष राशि दो आसान किश्तों मे जाम कराई जाएगी। वहीं जिन उपभोक्ताओं पर ७ हजार रूपए की राशि आ रही है, उन्हें प्रथम किश्त तीन हजार रूपए और दो किश्तों में २-२ हजार रूपए जमा करने होंगे।

 

Ad Block is Banned