यूपी जाने वाली श्रमिक ट्रेनों की संख्या बढ़ने से रफ्तार पर लगा ब्रेक, कई जगह घंटों खड़ी रही ट्रेनें

ऐसे में, भोपाल मंडल ने 12 अनशेड्यूल ट्रेनों के 14 हजार यात्रियों को दिया खाना—पानी

By: Amit Mishra

Updated: 23 May 2020, 12:07 PM IST

विकास वर्मा भोपाल। श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने के चलते सभी ट्रेनों अपने निर्धारित समय से घंटो देरी से अपने गंत्वय स्टेशनों पर पहुंच रही हैं। ट्रेनों को जगह—जगह 5—6 घंटे रोकने की वजह से यात्रियों ने ट्विटर पर भी गुस्सा जाहिर किया। ट्रेनों में खाना—पानी नहीं मिलने से परेशान यात्रियों ने रेल मंत्रालय को गई ट्वीट किए। ऐसे में भोपाल डिवीजन की ओर से 12 अनशेड्यूल ट्रेनों ऐसी ट्रेनें जिसमें भोपाल मंडल में खाना नहीं दिया जाना था में भी करीब 14 हजार से अधिक यात्रियों को स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद से खाना—पानी सप्लाई किया। मंडल के भोपाल, संत हिरदाराम नगर, विदिशा, बीना, इटारसी स्टेशनों पर खाना—पानी दिया गया। इसके अलावा स्काउट व वाणिज्य कर्मचारियों द्वारा वाटर कूलर से पाइप लगाकर श्रमिक यात्रियों को कोच की विण्डों से खाली बॉटल को भरा गया।

यूपी जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या बढ़ने से हुई परेशानी
डीआरएम उदय बोरवणकर ने बताया कि कानपुर,इलाहाबाद गोरखपुर में बड़ही तादाद में श्रमिक स्पेशल ट्रेनें पहुंच रही है। ऐसे में शुक्रवार को झांसी, भोपाल, जबलपुर, भुसवाल और नागपुर डिवीजन में ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ था। इसके बावजूद भी हमने 21 मई को भुसावल से 55 गाड़ियां लीं और 22 मई को 28 गाड़ियां ली। शाम होने तक हालात में कुछ सुधार आया, अब दो डिवीजन के बीच ट्रेनों का संचालन सही ढंग से हो रहा है।

33 फीसदी रेल स्टाफ ही काम कर रहा, इसलिए भी हो रही है परेशानी

दरअसल, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की तादाद काफी बढ़ी है, ऐसे में भोपाल डिवीजन देश के मध्य में होने के कारण मुम्बई, दक्षिण भारत से यूपी आने—जाने वाली सभी ट्रेनें इन्हीं डिवीजन से होकर गुजरती हैं, ऐसे में जब यूपी में श्रमिक ट्रेनें बड़ी तादाद में पहुंची तो पीछे चल रह सभी ट्रेनों जहां—तहां रोका गया या बहुत कम गति से चलाया गया। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की तादाद तो बढ़ी लेकिन देश भर के डिवीजन में अभी भी सिर्फ 33 फीसदी स्टाफ ही कार्यरत है, लिहाजा संचालन पर असर पड़ना भी स्वाभाविक है। रेल अधिकारियों की मानें तो 1 जून से संचालित होने वाली ट्रेनों से पहले ही रेलवे स्टाफ की संख्या भी इजाफा किया जाएगा।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned