scriptDussehra pujan in Scindia Family Shami pujan in evening | दशहरा 2022: 200 साल पुरानी परम्परा का वैभव आज भी कायम, जानें सिंधिया राजपरिवार ने आज कैसे की पूजा | Patrika News

दशहरा 2022: 200 साल पुरानी परम्परा का वैभव आज भी कायम, जानें सिंधिया राजपरिवार ने आज कैसे की पूजा

locationभोपालPublished: Oct 05, 2022 04:40:11 pm

Submitted by:

shailendra tiwari

राजा-महाराजाओं का वैभव और ठाठ-बाठ लिए आज बुधवार को भी पूरा परिवार एक साथ होकर दशहरा पर्व मना रहा है।

dussehra_1.jpg

भोपाल। देशभर में दशहरा पर्व पर पूजा-पाठ का दौर जारी है। राजधानी में भी कई परिवारों में विधि-विधान से सुबह अस्त्र-शस्त्र की पूजा के बाद शाम को शनि के पौधे की पूजा की परम्परा निभाई जाएगी। इस बीच ग्वालियर के सिंधिया घराने की चर्चा न हो तो बेमानी होगा। दरअसल दशहरा का यह पर्व सिंधिया घराने में वैभव के साथ मनाया जाता रहा है। राजा-महाराजाओं का वैभव और ठाठ-बाठ लिए आज बुधवार को भी पूरा परिवार एक साथ होकर दशहरा पर्व मना रहा है। सुबह अस्त्र-शस्त्र की पूजा के बाद अब शाम को शमी वृक्ष पूजन की तैयारियां जोरों पर हैं। इस वैभव और शान का मजा लेने हजारों लोग इस पूजा में पहुंचते हैं। आप भी जानें सिंधिया घराने की दशहरा पर्व की सैकड़ो साल पुरानी परम्परा और पूजन का वैभव...

आपको बता दें कि सिंधिया राजपरिवार में दशहरे पर कई परंपराएं निभाई जाती हैं। इनमें सबसे पुरानी है शमी पूजन की प्रथा। यह करीब 200 साल से चली आ रही है। दशहरे पर सिंधिया परिवार शमी वृक्ष की इस पूजा को देखने और पत्तियां लूटने के लिए हजारों लोग मांढेर की माता मंदिर पर जमा हो गए हैं।
यह भी पढ़ें

Karwa chauth 2022: आज से ही फॉलो करें ये घरेलू टिप्स, करवा चौथ के दिन निखरी नजर आएंगी आप

यह भी पढ़ें: Karwa Chauth 2022: करवा चौथ पर ये हेयर स्टाइल बना देंगी खूबसूरत


सुबह देवघर जाकर की पूजा, शाम को शमी पूजन

सिंधिया घराने की दशहरा पर्व पर पूजा अर्चना की परम्परा 200 साल पुरानी है। लेकिन पारंपरिक रूप में कोई बदलाव नहीं आया है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दशहरे पर अपनी कुल परंपरा के अनुसार सुबह सबसे पहले देवघर जाकर विशेष पूजा की। अब वे शाम को शमी वृक्ष का पूजन करेंगे। इसके बाद वह वहां उपस्थित सभी मराठा सरदार लोगों से मुलाकात करेंगे। शमी पूजन के बाद शमी की पत्तियां भी लुटाई जाएंंगी।

आठवीं पीढ़ी का नेतृत्व कर रहे ज्योतिरादित्य
ज्योतिरादित्य सिंधिया शाम को परंपरागत वेश-भूषा में शमी पूजन स्थल मांढरे की माता पर पहुंचेंगे। वहां लोगों से मिलने के बाद शमी वृक्ष की पूजा की जाती है। इसके बाद म्यान से तलवार निकालकर जैसे ही शमी वृक्ष को लगाते हैं। हजारों की तादाद में मौजूद लोग पत्तियां लूटने के लिए टूट पड़ते हैं। लोग पत्तियों को सोने के प्रतीक के रूप में ले जाते हैं।

यह भी पढ़ें

Diwali 2022: आज से बढ़ गए हैं सोना और चांदी के दाम, खरीदारी के लिए सबसे शुभ समय

यह भी पढ़ें
इन शिक्षकों को भेजा जा रहा है शहर से गांव, देखिए कहीं आप तो नहीं...


सुबह निकलती थी सवारी

महल से जुड़े एसके कदम के मुताबिक दशहरे पर शमी पूजन की परंपरा सदियों पुरानी है। उस वक्त महाराजा सुबह तकरीब 8.30 से 9 बजे अपने लाव-लश्कर व सरदारों के साथ महल से निकलते थे। फिर सवारी गोरखी पहुंचती थी। यहां देव दर्शन के बाद शस्त्रों की पूजा की जाती थी। दोपहर तक यह सिलसिला चलता था। महाराज आते वक्तबग्घी पर सवार रहते थे। लौटते समय हाथी के हौदे पर बैठकर जाते थे। शाम को शमी वृक्ष की पूजा के बाद महाराज गोरखी में देव दर्शन के लिए जाते थे।

दशहरा दरबार में पहुंचे थे लोग
जानकारी के मुताबिक दशहरे पर जयविलास पैलेस के ऊपर दरबार हॉल में दशहरा दरबार लगता था। इसमें जमींदार व सरदार महाराज से मिलने के लिए आते थे। महाराज सरदार परिवारों से मिलने के बाद लोगों से मिलते थे। रिवाज के रूप में उपहार देने की परंपरा भी थी।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'सद्दाम' जैसा लुक पर हिमंता बिस्व सरमा की सफाई, कहा- दाढ़ी हटा लें तो 'नेहरू' जैसे दिखेंगे राहुलदिल्ली में श्रद्धा मर्डर जैसा एक और केस, शव के टुकड़े कर फ्रिज में रखा, मां-बेटा गिरफ्तारपायलट और गहलोत की कलह से भारत जोड़ो यात्रा पर नहीं पड़ेगा फर्क : राहुल गांधीCM भूपेश बघेल बोले- बलात्कारी को बचाने में लगी हुई है भाजपा, ED-IT को लेकर कही ये बातऋतुराज गायकवाड़ ने एक ओवर में 7 छक्के जड़कर बनाया विश्व रिकॉर्ड, युवराज को भी छोड़ा पीछेगुजरात चुनाव में 'आप' को झटका, वसंत खेतानी भाजपा में शामिल केजरीवाल निराशादिल्ली के स्कूल में बम की सूचना से मचा हड़कंप, डिस्पोजल स्क्वॉड मौके परयोगी के सभा में जाते लोगों में हुई धक्का-मुक्की, नाले में गिरे लोग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.