Ganesha Chaturthi 2018 : 22 विधियों से आप घर में खुद से बना सकते है गणेश प्रतिमा

Ganesha Chaturthi 2018 : 22 विधियों से आप घर में खुद से बना सकते है गणेश प्रतिमा

Amit Mishra | Publish: Sep, 12 2018 03:34:50 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

जानिए कैसे घर में बना सकते है गणेश प्रतिमा

भोपाल. गणेशोत्सव की तैयारियां पूरे देश में जोर शोर से चल रही हैं। देशवासाी इस त्यौहार को धूमधाम से मनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड रहे हैं। कुछ वर्षो से लोग अपने घरों में खुद से बनाई गई प्रतिमा को स्थापित कर रहे है इसके पीछे उद्देश्य पर्यावरण को तो सुराक्षित रखना है ही साथ ही लोगों को खुद से बनाई गई प्रतिमा श्रृद्धालुओं के लिए यादगार बन जाती है।

अगर आप इस गणेशोत्सव को एक नए और कभी न भूलने वाला मनाना चाहते तो इस बार गणेश उत्सव पर अपने घर में खुद के बनाए ईकोफ्रेंडली गणेश की करें स्थापना। बाजार में मिलने वाली महंगी मूर्तियों के बजाए खुद अपने परिवार के साथ बनाएं मिट्टी के गणेश प्रतिमा स्थापित करें... यह बेहद आसान है, आइए जानते हैं, कैसे बनाएं मिट्टी के ईको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा...

इन सामग्री की पडेगी आवश्यकता
घर पर ईकोफ्रेंडली गणेश प्रतिमा बनाने के लिए 1 किलो पेपरमेशी मिट्टी (स्टेशनरी की दुकान पर गूंथी हुई आसानी से मिल जाएगी), पानी, फि‍निशिंग के लिए ब्रश, मिट्टी की मूर्ति बनाने में उपयोग होने वाले औजार
या चाकू, बोर्ड और पॉलीथिन सामग्री की आवश्यकता होती है।

बनाने की विधि
विधि - 1. सबसे पहले आप एक समतल स्थान पर बैठे और साथ में एक बोर्ड जरूर ले ले। उसके बाद बोर्ड पर पॉलीथिन को टेप की सहायता से अच्छे से चिपका लें।


विधि 2. पेपरमेशी मिट्टी लीजिए और इसे तब तक गूंथे जब तक हाथों में चिपकना बंद न हो। अगर आपके पास मिट्टी का पाउडर है, तो इसे गोंद या फेविकॉल की मदद से गूंथ लें। उसके बाद इसे आटे
की तरह तैयार करने के बाद उसे 3 बराबर हिस्सों में बाट लें।

विधि 3. अब इस तीन हिस्सों में से 1 हिस्सा लेकर गोला बनाएं और इस गोले के 2 बराबर हिस्से करें।

विधि 4. इन दो में से एक हिस्से से हमें बेस बनाना है, जिस पर भगवान गणेश की प्रतिमा विराजमान होगी। बेस बनाने के लिए उस हिस्से को गोल लड्डू का आकर देकर हल्के-हल्के हाथों से दबाकर चपटा कर दें। इसकी मोटाई लगभग 0.5 मिमी तक हो व पूरे गोले की चौड़ाई लगभग 10 से 12 सेमी हो।

विधि 5. अब इसके दूसरे भाग को लेकर उसे अंडे का आकार दें। इस अंडाकार भाग से भगवान गणेश का पेट बनेगा।

विधि 6. विधि पांच तक पूरा करने के बाद पहले बड़े भाग का काम पूरा हो जाएगा। अब दूसरा बड़ा गोला लें और इसे 4 बराबर भागों में बांट लें। इन चारों भागों से भगवान गणेश के 2 हाथ और 2 पैर बनेंगे। हाथ और पैर बनाने के लिए सभी हिस्सों को एक-एक करके पाइप का आकर देना है और बाद में इन्हें किसी भी एक तरफ से पतला कर देना है। यह लगभग 7 से 8 सेमी के बनेंगे।

विधि 7. इन सभी को बीच से मोड़कर अंग्रेजी के वी का आकार दें। अब तक हम बेस, भगवान गणेश का पेट, दोनों हाथ और दो पैर बना चुके हैं।

विधि 8 . अब बेस को बोर्ड के बीचों-बीच रखें


विधि 9 . इसके ऊपर पैरों की आकृति को आलथी-पालथी की मुद्रा में रखें


विधि 10. अब पैरों के ऊपर अंडाकार गोले को पीछे की ओर पैरों से चिपकाकर रखें।

विधि 11. अब किसी औजार की मदद से पैरों और पेट के बीच की मिट्टी की समतल कर उन्हें आपस में चिपकाएं।

विधि 12. इसके बाद मूर्ति में दोनों हाथ लगाएं। दोनों हाथों के मोटे वाले सिरों से थोड़ी-थोड़ी मिट्टी निकल लें और इनसे दो छोटे-छोटे गोले बनाकर उन्हें पेट के सबसे ऊपर की ओर कंधे बनाते हुए चिपकाएं।


विधि 13. अब हाथों को कंधों से जोड़ दें। हाथों की लंबाई मूर्ति के आकार के अनुपात में होनी चाहिए।

विधि 14. भगवान गणेश के सीधे हाथ को आगे से थोड़ा-सा मोड़कर आशीर्वाद की मुद्रा बनाएं और दूसरे हाथ में आगे प्रसाद वाली मुद्रा में बनाएं और इस पर छोटा-सा लड्डू बनाकर रखें।


विधि 15. अब तीसरे बड़े भाग को ले। इस तीसरे बडे भाग को चार बराबर बराबर भाग में करें।


विधि 16. इनमें से एक भाग को लेकर इसमें से थोड़ी-सी मिट्टी निकाल लें और गर्दन बनाएं। बाकि बची मिट्‍टी को गोल आकार देकर भगवान गणेश का सिर बनाएं। अब पेट के ऊपर गर्दन और उसके ऊपर सिर
के आकार को जोड़ दें।

विधि 17. अब दूसरा हिस्सा लेकर उसे सूंड का आकर दें और सिर से जोड़ दें।

विधि 18. अब तीसरा हिस्सा लें और इसके दो बराबर भाग करें। एक हिस्से का लेकर रोटी की तरह चपटा कर लें और बीच से काटकर दो भाग करें। ये दोनों भाग गणेश भगवान के कान होंगे।


विधि 19. अब इन दोनों का गोल वाला हिस्सा सिर के दोनों ओर चिपकाएं और कानों का आकार दें।

विधि 20. अब इसी का दूसरा हिस्सा लेकर उसे कान का आकार दें और उसे सिर पर रखकर मुकूट बनाएं।

विधि 21. अब चौथे हिस्से को लेकर, उससे थोड़ी-सी मिट्टी निकालकर भगवान गणेश के दांत बनाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भगवान गणेश के सीधे हाथ की ओर वाला दांत पूरा होगा और बाएं हाथ की ओर लगाया जाने वाला दांत छोटा होगा।

विधि 22. अब बची हुई मि‍ट्टी से चूहा बनाएं। चूहा बनाने के लिए मिट्टी के तीन भाग करें। एक हिस्से को अंडाकार बनाएं, जिससे चूहे का पेट बनेगा। दूसरे हिस्से से तीन भाग करें, जिससे चूहे का सिर, कान और पूंछ बनेंगे। तीसरे हिस्से के चार भाग करें और चूहे के चार पैर बनाएं। आप चाहें तो आगे के दो पैरों को हाथ की तरह बनाकर उसमें लड्डू भी रख सकते हैं।

सुखाने के बाद अपने अनुसार भरे रंग
अब आपके ईको फ्रेंडली गणेश जी तैयार हैं। इन्हें बनाने के बाद 1 से 2 दिन छांव में सुखाएं और उन पर अपने अनुुसार रंग भरकर सजाएं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned