मनी और पॉवर के लिए किसी के पीछे भागना ठीक नहीं

विश्वविद्यालयों में पीएम के जन्मदिवस पर हुए कार्यक्रम, आरजीपीवी में राज्यपाल हुए शामिल

भोपाल । बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय सहित शहर के उच्च शैक्षणिक संस्थानों में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालयों (आरजीपीवी) में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल मंगुभाई पटेल शामिल हुए। उनकी उपस्थिति में राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय और नेशनल कैडेट कोर के मध्य एमओयू भी हस्ताक्षरित हुआ। उन्होंने आरजीपीवी में रक्तदान शिविर का शुभारंभ और रुद्राक्ष के पौधे का रोपण किया। शिविर में एनएसएस, एनसीसी कैडेट्स सहित विवि के शिक्षकों व कर्मचारियों ने रक्तदान किया। इस दौरान उन्होंने युवाओं से कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के व्यक्तित्व से प्रेरणा प्राप्त करें।

वहीं उन्होंने कहा कि जीवन में आत्म-संतुष्टि का होना सबसे बड़ी खुशी है। इसलिए जीवन में मनी, पॉवर और प्रेस्टीज के लिए किसी के पीछे भागना उचित नहीं है। इस दौरान एनसीसी के कमांडिग ऑफिसर ब्रिगेडियर संजोय घोष और एनर्जी स्वराज फाउंडेशन के संस्थापक प्रो चेतन सिंह सोलंकी,कुलपति प्रो. सुनील कुमार सहित विश्वविद्यालय के प्राध्यापक, अधिकारी, कर्मचारी और विद्यार्थी उपस्थित रहे। इस दौरान कुलपति ने बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत विश्वविद्यालय द्वारा तकनीकी शिक्षा के साथ एनसीसी को इलेक्टिव विषय के रूप में जोड़ा गया है। इंजीनियरिग विद्यार्थियों को क्रेडिट भी दिया जाएगा। कार्यक्रम में 5 विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए दूसरी किश्त की राशि दी गई।

स्टार्टअप के लिए अनुकूल वातावरण बना --

राज्यपाल पटेल ने कहा कि देश में स्टार्टअप के लिए अनुकूल वातावरण बना हुआ है। फूड एन्ड एग्रीकल्चर सेक्टर में ग्रोथ की अपार संभावनाएं हैं। केन्द्र सरकार ने कृषि से जुड़ी मूलभूत सुविधाओं के लिए एक लाख करोड़ का एग्री-इन्फ्रा-फंड भी बनाया है। शुरुआती पूंजी उपलब्ध कराने के लिए एक हजार करोड़ रुपए का सीड फंड शुरू किया है। उन्होंने कहा कि स्र्टाटअप को बड़ा बाजार भी उपलब्ध कराया गया है। सरकारी टेंडर्स में स्र्टाटअप को भी उतना ही मौका मिल रहा है जितना किसी बड़ी कंपनी को। अब तक करीब 8 हजार स्र्टाटअप जेम पोर्टल पर रजिस्टर हैं, जिन्होंने लगभग 2,300 करोड़ रुपए का व्यापार भी किया है।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned