scriptEffect of vaccination, cases are increasing, 127 patients in home isol | वैक्सीनेशन का असर, केस बढ़ रहे, 127 मरीज होम आइसोलेशन में, अधिकांश में लक्षण तक नहीं | Patrika News

वैक्सीनेशन का असर, केस बढ़ रहे, 127 मरीज होम आइसोलेशन में, अधिकांश में लक्षण तक नहीं

- जिनमें थोड़े बहुत लक्षण या घर में सैपरेशन की जगह नहीं, ऐसे 12 मरीजों को अस्पताल में किया है भर्ती

- कोरोना काल की सुखद खबर::

भोपाल

Published: January 05, 2022 09:07:49 pm

भोपाल. कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं, एक्टिव मरीजों की संख्या 137 है, जिसमें से 127 मरीज होम आईसोलेशन में हैं। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर की तरह अभी किसी मरीज में गंभीर लक्षण नहीं दिख रहे। सभी सामान्य रूप से घर में रह रहे हैं। कोरोना कंट्रोल रूम से रोजाना इनके स्वास्थ्य की जांच होती है। अभी तक किसी मरीज का ऑक्सीजन स्तर कम नहीं हुआ है। यहां तक की नब्बे फीसदी मरीजों में सर्दी खांसी तक के लक्षण नहीं हैं। वैक्सीेनेशन के बाद इसे एक सुखद खबर माना जा सकता है। मरीजों की मॉनीटरिंग कर रहे डॉक्टर भी इसे वैक्सीन का प्रभाव बता रहे हैं।

वैक्सीनेशन का असर, केस बढ़ रहे, 127 मरीज होम आइसोलेशन में, अधिकांश में लक्षण तक नहीं
जिनमें थोड़े बहुत लक्षण या घर में सैपरेशन की जगह नहीं, ऐसे 12 मरीजों को अस्पताल में किया है भर्ती

केस-1, दूसरों से कह रहे वैक्सीन लगवाएं-

कोलार निवासी अनिल पॉजिटिव होने के बाद घर पर ही रह रहे हैं। उनमें किसी प्रकार का लक्षण नहीं है। उनको दोनों डोज लग चुकी हैं। अब वे घर में बैठकर के लोगों को बताते हैं कि वैक्सीन लगवाना जरूरी है। अगर आप कोरोना पॉजिटिव हो भी जाते हैं तो कोई असर नहीं पड़ेगा। कोविड गाइडलाइन का पालन कर स्वस्थ्य हुआ जा सकता है।

केस-2, पहले डर गईं थीं, लेकिन अब ठीक हैं
गोविंदपुरा निवासी सुनीता पॉजिटिव आने के बाद काफी डर गई थी। उन्होंने सोचा कि दोनों डोज लगने के बाद भी कैसे पॉजिटिव हो गईं, कंट्रोल रूम में डॉक्टरों की टीम ने उन्हें बताया कि दोनों डोज के बाद आप पॉजिटिव तो हो सकते हैं। लेकिन कोरोना उतना असर नहीं करता, जितना वैक्सीन न लगवाने वालों पर कर रहा है। इसके बाद अब कुछ दिनों से स्थिति ठीक है।

तहसीलों में खुलेंगे 100-100 बेड के आइसोलेशन सेंटर

खुशीलाल में 300 बेड का कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो गया है। इसके अलावा अब तहसीलों में 100-100 बेड के केयर सेंटर और बनाए जा रहे हैं। इसके लिए जिले की तीनों तहसीलों के अफसर पुराने केयर सेंटरों को फिर से कोविड केयर सेंटर बना रहे हैं। ताकि जरूरत पडऩे पर मरीजों को भर्ती किया जा सके।

वर्जन
होम आईसोलेशन में इस समय रह रहे मरीजों में कोई लक्षण नहीं है, अधिकांश स्वस्थ्य हैं। टीम रोजाना उनकी मॉनीटरिंग और जांच कर रही है। लगभग सभी मरीजों को वैक्सीन लगी है।

डॉ. संगीता टांक, प्रभारी, कोरोना कंट्रोल रूम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE : राष्ट्र के नाम संबोधन में बोले राष्ट्रपति कोविंद - कोविड नियमों का पालन करना ही राष्ट्र धर्मRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीकोरोना पॉजिटिविटी दर में उतार-चढाव जारी, मिले नए 427 केसUP Assembly elections 2022 : 'मुस्लिमों को पिछड़ा बनाने के लिए सरकारें दोषी, बच्चों को हासिल करवाओं तालीम'स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.