Election2019: कांग्रेस में खींचतान, भाजपा में घमासान, अब तक तय नहीं उम्मीदवार

मध्य प्रदेश लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पहले चरण के नामांकन के लिए अब सिर्फ पांच दिन बाकी नामांकन शुरू लेकिन दोनों दलों में तय नहीं हो पा रहे उम्मीदवार, कांग्रेस में खींचतान, भाजपा में घमासान...

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Updated: 04 Apr 2019, 12:31 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में पहले चरण के चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। नामांकन भरने के दो दिन निकल भी गए, लेकिन अभी भी इस चरण की 6 सीटों में कांग्रेस के चार और भाजपा के एक उम्मीदवार की घोषणा बाकी है। सभी 29 सीटों में भाजपा के 11 और कांग्रेस के 20 उम्मीदवारों के चेहरे अभी तक सामने नहीं आ पाए हैं।

दोनों प्रमुख दलों में उम्मीदवारों की घोषणा में देरी का बड़ा कारण दावेदारों की आपसी खींचतान और बगावत का संभावित डर है। यही कारण है कि दोनों ही दल प्रत्याशी उतारने में गहन मंथन में लगे हुए हैं। भाजपा ने जिन 18 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं, उनमें से आधे से ज्यादा सीटों पर असंतोष और बगावत के हालात बने हुए हैं। कांग्रेस के सामने जिताऊ चेहरों का संकट है।

गढ़ में भी तय नहीं नाम

भोपाल - कांग्रेस की ओर से दिग्विजय सिंह के उतारने के बाद से भाजपा दबाव में है। पार्टी यहां किसी बड़े नेता को लाने की तैयारी में है। पहले शिवराज-उमा के नाम चले, लेकिन पेच फंसने के बाद दोनों नाम गुम हो गए। अब नरेंद्र सिंह तोमर के नाम की चर्चा है, लेकिन भाजपा को स्थानीय नेताओं के असंतोष की चिंता है।

जबलपुर - यहां कांग्रेस से विवेक तन्खा के नाम की चर्चा है। उनका सोशल मीडिया पर भाजपा उम्मीदवार राकेश सिंह के साथ चुनावी जंग भी शुरू हो गया है, लेकिन तन्खा की उम्मीदवारी अटकी हुई है। यहां 29 अप्रैल को मतदान होना है। नामांकन का समय निकल रहा है, लेकिन कांग्रेस की अंदरूनी खींचतान के चलते प्रत्याशी का ऐलान नहीं हो पा रहा है।

गुना - पिछले चुनावों में कांग्रेस गुना सीट का ऐलान शुरुआती सूची में ही कर देती थी। यह सिंधिया परिवार की पारंपरिक सीट है। ज्योतिरादित्य सिंधिया यहां से चार बार से जीत रहे हैं। इस बार कांगेस सिंधिया के लिए गुना-ग्वालियर के विकल्प में झूल रही है। उधर, भाजपा स्थानीय बनाम बाहरी उम्मीदवार के भंवर में है।

इंदौर - यहां भाजपा और कांग्रेस दोनों ही उम्मीदवार घोषित नहीं कर पाए हैं। भाजपा सुमित्रा महाजन के 75 पार के फॉर्मूले में आने के बाद किसी मजबूत चेहरे को तलाश रही है तो कांग्रेस के पास कोई जिताऊ चेहरा ही नहीं है। भाजपा खेमे में मालिनी गौड़ की उम्मीदवारी पर सहमति दिख रही है, लेकिन टिकट के ऐलान पर ब्रेक लगा हुआ है।

छिंदवाड़ा - छिंदवाड़ा में कांग्रेस-भाजपा प्रत्याशी का ऐलान नहीं कर पाए हैं। कमलनाथ की इस सीट पर कांग्रेस उनके पुत्र नकुलनाथ को उम्मीदवार बनाना चाहती है, लेकिन देरी का कारण कयासों को जन्म दे रहा है। भाजपा यहां गोंडवाना पार्टी अध्यक्ष मनमोहन शाह बट्टी को चुनाव लड़वाना चाहती थी, लेकिन स्थानीय विरोध में मामला उलझ गया है।

सीधी - भाजपा ने यहां से सांसद रीति पाठक को फिर से मौका दिया है। वह खराब रिपोर्ट कार्ड के कारण विकल्प तलाश रही थी, लेकिन आखिर में रीति पर ही सहमति बनी। इस सीट पर कांग्रेस की ओर से अजय सिंह का नाम चल रहा है, लेकिन अभी तक ऐलान अटका हुआ है। इससे कई तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं।

BJP Congress
Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned