कांग्रेस के सभी दिग्गज पीछे, साध्वी प्रज्ञा को शुरुआती दौर में बड़ी बढ़त; दिग्विजय सिंह पिछड़े

कांग्रेस के सभी दिग्गज पीछे, साध्वी प्रज्ञा को शुरुआती दौर में बड़ी बढ़त; दिग्विजय सिंह पिछड़े

Pawan Tiwari | Publish: May, 23 2019 10:05:58 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर मतगणना जारी है।

भोपाल. मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर मतगणना जारी है। प्रदेश और देश की सबसे हाई प्रोफाइल सीटों में से एक भोपाल पर देश की निगाहें हैं। भोपाल संसदीय सीट से भाजपा की प्रज्ञा सिंह ठाकुर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह से आगे चल रही हैं। उनकी बढ़त पहले राउंड में करीब 16 हजार वोटों से आगे चल रही हैं। साध्वी प्रज्ञा ने इस चुनाव को अपना धर्मयुद्ध बताया था। भाजपा ने इस बार भोपाल से अपने मौजूदा सांसद आलोक संजर का टिकट काटकर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उम्मीदवार बनाया था। साध्वी ने यहां जोरदार ढंग से चुनाव प्रचार किया था। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान कई विवादित बयान दिए थे।


सिंधिया भी पीछे
गुना-शिवपुरी संसदीय सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा के केपी यादव से पीछे चल रहे हैं। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के सभी बड़े नेता फिलहाल पीछे चल रहे हैं। प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से भाजपा को 27 पर तो कांग्रेस को केवल 2 सीटों पर बढ़त मिली हुई है। कांग्रेस मंडला और छिंदवाड़ा सीट पर आगे चल रही है। वहीं, खंडवा मे भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान आगे चल रहे हैं जबकि कांग्रेस के अरुण यादव पीछे चल रहे हैं।


कांग्रेस के ये दिग्गज पीछे
गुना-शिवपुरी संसदीय सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया पीछे, सीधी से अजय सिंह पीछे, रतलाम-झाबुआ से कांतिलाल भूरिया पीछे, रतलाम से मीनाक्षी नटराजन पीछे, जबलपुर से राज्यसभा सासंद विवेक तन्खा पीछे, ग्वालियर के अशोक सिंह पीछे। चल रहे हैं। वहीं, छिंदवाड़ा संसदीय सीट से कांग्रेस के नकुलनाथ आगे चल रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned