खाद पर आपात बैठक, शिवराज बोले- गडबडी की तो जेल...

-----------------------
- शिवराज ने भिंड -मुरैना कलेक्टर को विशेष तौर पर व्यवस्था सुधार के लिए कहा, उपलब्धता के प्रचार के निर्देश
----------------------

भोपाल। प्रदेश में खाद संकट पर सरकार ने सख्त रूख अपना लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को इस पर आपात बैठक की। शिवराज ने कहा कि खाद वितरण की व्यवस्था में किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं आये। लापरवाही और शिकायत सामने आने पर संबंधितों पर कडी कार्यवाही की जाएगी। किसी भी स्थिति में उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। गडबडी पाये जाने पर जेल की सजा भी हो सकती है। शिवराज ने कहा कि खाद की ऑफलाइन बिक्री के दौरान खाद की ब्लैक मार्केटिंग हरगिज न होने पाये। किसानों को बिना किसी परेशानी के खाद उपलब्ध हो। जिलों के कलेक्टर्स से समन्वय कर खाद का वितरण ठीक ढंग से कराना सुनिश्चित करें। शिवराज ने मुरैना एवं भिण्ड जिले के कलेक्टर को खाद वितरण व्यवस्था को बनाये रखने और समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश दिए। शिवराज ने कहा कि प्रदेश के लिए अक्टूबर माह में 2 लाख 12 हजार मीट्रिक टन खाद का आवंटन मंजूर हुआ है। पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि खाद की उपलब्धता का प्रचार-प्रसार अच्छे ढंग से करायें। एनपीके खाद भी डीएपी खाद की तरह ही प्रभावी है। किसानों को इसका वितरण भी ठीक ढंग से सुनिश्चित करायें।
-----------------

खाद की कालाबाजारी पर लगेगी रासुका
प्रदेश में खाद की कालाबाजारी पर अब रासुका लगाई जाएगी। गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रदेश में खाद की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त एक्शन लेगी। ऐसे लोगों पर रासुका लगाई जाएगी। सभी जिलों को कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दिए गए हैं। गौरतलब है कि कई जिलों में खाद की किल्लत की जानकारी सामने आ रही है। इस पर अब सरकार ने सख्ती बरतना तय किया है। मंत्री नरोत्तम ने यह भी कहा कि खाद की प्रदेश में कोई किल्लत नहीं है। पिछले साल से ज्यादा उपलब्धता है।

जीतेन्द्र चौरसिया Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned