आप भी बस से सफर करते हैं, तो ये खबर आपके फायदे की है

यूरोप के कुछ देशों में अपनाई जा रही ट्रेफाय टेक्नोलॉजी अब भोपाल में भी फॉलो की जाएगी, आप भी जानें आपको क्या होगा फायदा

By: sanjana kumar

Published: 30 Dec 2016, 12:17 PM IST

भोपाल। अगर आप भी हर रोज बस छूट जाने या घंटों बस का इंतजार करने के कारण परेशान होते हैं, तो अब आपकी परेशानी दूर करने का इंतजाम कर लिया गया है। ये इंतजाम किया है भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ने। इसके लिए आपको सिर्फ अपने स्मार्ट फोन का स्मार्ट यूज करना है। 

दरअसल कॉर्पोरेशन भोपाल प्लस एप में ट्रेफाय टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू करने वाली है। यूरोप की ये टेक्नोलॉजी लो फ्लोर बसों में लगाए गए जीपीएस सिस्टम से उनका लाइव डेटा ट्रैक कर एप में एक्सीस करेगी। इससे यह पता चल सकेगा कि कौन सी बस कहां है, कौनसे स्टॉपेज पर पहुंचने वाली है। 

डाउन करना होगा ये एप
आपको अपनी बस का पता लगाने के लिए केवल भोपाल प्लस मोबाइल एप अपने स्मार्ट फोन में डाउनलोड करना है। ये एप खोलते ही आपको बस की सारी जानकारी तुरंत मिल जाएगी।

जनवरी में शुरू होगी सुविधा
निगम कमिश्नर के मुताबिक मोबाइल एप से लो फ्लोर बसों का लाइव मूवमेंट लोगों तक पहुंचेगा। कोशिश की जा रही है कि यह सुविधा नए साल में ही शुरू की जाए। नगर निगम की होल्डिंग कंपनी भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड की सभी लो फ्लोर बसों में जीपीएस सिस्टम लगाया जा रहा है। इसके बाद इन बसों की ट्रैङ्क्षकग आईएसबीटी में बनाए गए कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से की जा सकेगी। 

लीथवेनिया शहर से हुई शुरुआत
बसों के लाइव मूवमेंट की जानकारी की ये टेक्नीक यूरोप के लीथवेनिया शहर से शुरू की गई थी। इस शहर में यह तकनीक कामयाब हुई तो पूरे यूरोप में इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। इस टेक्नोलॉजी का अब भोपाल में भी इस्तेमाल किया जाएगा। 

मुफ्त में मिल रही है टेक्नोलॉजी
नगर निगम को ये टेक्नोलॉजी मुफ्त में मिल रही है। इसके लिए न सेटअप की जरूरत है और न ही किसी उपकरण की। बल्कि एक प्रोग्राम कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से जोड़ा जाएगा, जो लो फ्लोर बसों में लगे जीपीएस से मिलने वाले लाइव डाटा और मोबाइल की लाइव लोकेशन का एनालिसिस कर बस संबंधी जानकारी देगा। ये जीपीएस बेस्ड प्रोग्राम बस स्टॉप लोकेशन गूगल मैप से लेगा, जबकि यूजर की लोकेशन मोबाइल नेटवर्क से ली जाएगी।

जानें फायदे
* एप ये बताएगा कि आपकी बस आपके स्टॉपेज पर कितनी देर में पहुंचने वाली है। आप उसी समय बस स्टॉपेज पर जाएंगे, तो आपको घंटों वेट नहीं करना पड़ेगा यानी आपका समय बचेगा। 

* बस छूटने का डर भी नहीं रहेगा। अगर बस छूट भी जाती है, तो आपको यह भी पता चल सकेगा कि अब दूसरी बस उस स्टॉपेज पर कितनी देर में पहुंचने वाली है।
* इस टेक्नोलॉजी का बड़ा फायदा यह भी होगा कि अब ड्राइवर मनमानी रफ्तार से बस ड्राइव नहीं कर सकेंगे। इस एप के माध्यम से बस की रफ्तार भी आसानी से पता चलेगी।
Show More
sanjana kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned