मेडिकल कॉलेजों में सवर्ण छात्रों को मिलेगा EWS कोटे का लाभ, लेकिन करना होगा थोड़ा इंतजार

मेडिकल कॉलेजों में सवर्ण छात्रों को मिलेगा EWS कोटे का लाभ, लेकिन करना होगा थोड़ा इंतजार

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Jun, 24 2019 01:55:42 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

EWS कोटे के लिए नियमों का इंतजार, 8 लाख सालाना आय वाले परिवारों के लिए विशेष प्रावधान

भोपाल . निजी और सरकारी मेडिकल कॉलेजों ( medical colleges ) में MBBS और BDS की यूजी सीटों पर दाखिले के लिए काउंसिलिंग शुरू हो चुकी है। इस बार मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेने वाले छात्रों को EWS कोटे का लाभ ( EWS quota benefit) मिलेगा। लेकिन थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

सालाना आय 8 लाख रुपए होने पर मिलेगा लाभ

इस बार मेडिकल कॉलेजों में 2750 सीटों की बजाय 3020 सीटों पर प्रवेश दिए जाएंगे। सीटों में यह इजाफा केन्द्र सरकार द्वारा EWS (इकॉनोमिकल वीकर सेक्शन) स्कीम के तहत दी गई अतिरिक्त सीटों से हुआ है।

चिकित्सा शिक्षा विभाग के मुताबिक जिनके परिवार की सालाना आय आठ लाख रुपए से कम है, उन छात्रों को EWS कोटे के तहत सीटों का आवंटन किया जाएगा। EWS कोटे के तहत प्रदेश में 270 यूजी सीटों का इजाफा हुआ है। विभाग ने केन्द्र से 400 EWS सीटों की मांग की थी।

40 फीसदी तक सिमटा जनरल कोटा

सरकार की मंशा निम्न वर्ग आय के अभ्यर्थियों को लाभ पहुंचाना है। पिछले वर्ष तक जनरल कोटा 50% सीटों पर लागू होता था। इस वर्ष से यह 40 प्रतिशत कर दिया गया है।

अलग से बनेगी मेरिट लिस्ट

EWS कोटे के लिए अलग से मेरिट लिस्ट बनाई जाएगी। छात्रों को दस्तावेजों के साथ परिवार की आय का सर्टिफिकेट जमा करना होगा। चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि केंद्र से स्पष्ट निर्देश नहीं मिले हैं। जैसे ही EWS कोटे का क्षेत्र हमें पता चल जाएगा। हम विभाग की वेबसाइट पर प्रकाशित कर देंगे।

एक महीने बाद हमीदिया की कार्डियक ओटी फिर होगी शुरू

इधर, भोपाल के हमीदिया अस्पताल में एक महीने से बंद कार्डियक ओटी सोमवार से शुरू कर दी गयी है। कार्डियक थोरेसिक विभाग का सेंट्रल एसी खराब होने के कारण ओटी बंद थे। इससे हार्ट के ऑपरेशन के लिए वेटिंग बढ़ गई है।

अब एक महीने तक नए केस नहीं लिए जाएंगे। इस दौरान सिर्फ वेटिंग खत्म की जाएगी। जानकारी के मुताबिक 150 से ज्यादा एंजियोग्राफी और 30 से 35 एंजियोप्लास्टी वेटिंग में हैं। रविवार को एक मरीज की एंजियोप्लास्टी की गई। अस्पताल अधीक्षक डॉ. एके श्रीवास्तव के मुताबिक ओटी शुरू हो गई है। एसी सिस्टम में कुछ गड़बडिय़ों के चलते ओटी बंद करनी पड़ी थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned